बिहार

RLSP खत्म, उपेंद्र JDU में: भास्कर ने दिसंबर में ही बताया था; कुशवाहा बोले- बिना लोभ JDU में आया, जबकि पत्नी के लिए MLC तय, इन्हें राष्ट्रीय पद मिल भी गया

wcnews.xyz
Spread the love

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Upendar Kushwaha Party RLSP Merger In JDU Patna; CM Nitish Kumar Kushwaha Latest News Update

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटना4 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • मुख्यमंंत्री और पूर्व अध्यक्ष नीतीश कुमार ने कराया मिलन

भास्कर ने 6 दिसंबर को बताया था कि उपेंद्र कुशवाहा JDU में आने वाले हैं। शुक्रवार को सबसे पहले इस मिलन का मुहूर्त भी बता दिया। रविवार को मुख्यमंत्री और JDU के पूर्व अध्यक्ष नीतीश कुमार के सामने RLSP के 150 नेताओं के साथ उपेंद्र कुशवाहा ने JDU की सदस्यता ले ली। उन्होंने बेशर्त और बिना लोभ के JDU में शामिल होने की बात कही है, हालांकि भास्कर यह जानकारी पहले ही दे चुका है कि उनकी पत्नी स्नेहलता को राज्यपाल कोटे से MLC बनाया जाएगा और सीट खाली होते ही कुशवाहा खुद JDU से राज्यसभा जाएंगे। उन्हें तत्काल प्रभाव से JDU की पार्लियामेंट्री बोर्ड का चेयरमैन बना भी दिया गया है। रविवार को RLSP का JDU में औपचारिक मिलन पार्टी की पाटलिपुत्रा कॉलोनी में राष्ट्रीय कार्यकारिणी के बाद वीरचंद पटेल पथ स्थित JDU प्रदेश कार्यालय में हुआ।

दो ध्रुव बने लव-कुश होंगे साथ

कुशवाहा ने और क्या कहा

9 साल बाद एक बार फिर साथ आने के बाद कुशवाहा ने कहा कि उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि मैंने बहुत उतार चढ़ाव देखा है, जनता के आदेश पर नीतीश कुमार के साथ आया हूं। जब तक जीवन है, तब तक नीतीश कुमार के साथ काम करूंगा। बिना शर्त के साथ आया हूं, जो तय करेंगे वो मान्य होगा। तेजस्वी यादव पर तंज कसते हुए कहा कि कुछ लोग मंसूबा पाल रहे हैं। उन्हें एक बार फिर मौका चाहिए बिहार को आतंक और पाखंड में झोंकने का। बिहार का खजाना खाली करना चाहते हैं। लेकिन उपेंद्र कुशवाहा के रहते ऐसा नहीं हो सकता है। वहीं, CM नीतीश कुमार ने कहा कि काफी दिनों से बातचीत चल रही थी, उपेन्द्र जी की पार्टी हमारे साथ आ गई है। इससे काफी खुशी हो रही है। हमलोग मिलकर राज्य और देश की सेवा करेंगे।

JDU कार्यालय में CM नीतीश कुमार और उपेंद्र कुशवाहा।

JDU कार्यालय में CM नीतीश कुमार और उपेंद्र कुशवाहा।

भास्कर ने पहले ही दी थी जानकारी

विलय से पहले रविवार को कुशवाहा ने कहा कि नीतीश कुमार मेरे बड़े भाई हैं, वहीं पार्टी में मेरी भूमिका को तय करेंगे। उन्होंने कहा कि दो दिन की बैठक के बाद राज्य और देश की परिस्थितियों को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। सामान्य विचार धारा के लोगों के साथ एक मंच पर होना चाहिए। समाज के अंतिम व्यक्ति के उत्थान और बराबरी पर लाने के लिए JDU में पार्टी का विलय कर रहा हूं। भास्कर ने शुक्रवार को ही विलय की जानकारी दे दी थी। शनिवार से शुरू हुई पार्टी के दो दिनों की मीटिंग के बाद इस पर फाइनल मुहर लगी थी।

JDU कार्यालय पहुंचे CM नीतीश कुमार।

JDU कार्यालय पहुंचे CM नीतीश कुमार।

तेजस्वी यादव पर साधा निशाना

कुशवाहा ने कहा कि बिहार की जनता ने जो जनादेश दिया है, उसकी वजह से मिलना हुआ है। बिहार की शिक्षा व्यवस्था को और भी दुरुस्त किया जाएगा। वहीं, तेजस्वी पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष क्या कह रहे हैं, वही जानें। उनकी बुद्धि पर तरस आ रही है। एक नेता के जाने से वो RLSP को अपनी पार्टी में विलय की बात कर रहे हैं।

JDU कार्यालय में पहुंचे उपेंद्र कुशवाहा।

JDU कार्यालय में पहुंचे उपेंद्र कुशवाहा।

नौ साल बाद JDU में हुई वापसी
JDU से राज्यसभा सांसद बनने के बाद 2012 में उपेंद्र कुशवाहा ने एक बार फिर पार्टी से अलग लाइन ले लिया था। FDI बिल पर अलग वोट किया, जिससे नीतीश कुमार नाराज हो गए थे। पार्टी में रहते हुए ही कुशवाहा ने नीतीश कुमार को तानाशाह तक कह डाला था। फिर राजगीर में हो रहे जदयू के कार्यकर्ता सम्मेलन की भरी सभा में उपेंद्र कुशवाहा ने नीतीश कुमार के सामने इस्तीफा देने का प्रस्ताव रख दिया। बाद में पार्टी और राज्यसभा की सदस्यता से इस्तीफा भी दे दिया था। 2013 में उपेंद्र कुशवाहा ने अरुण कुमार के साथ मिलकर RLSP नाम की एक नई पार्टी बनाई थी।

विलय से पहले मीडिया को संबोधित करते उपेंद्र कुशवाहा।

विलय से पहले मीडिया को संबोधित करते उपेंद्र कुशवाहा।

पत्नी स्नेहलता विधान परिषद, कुशवाहा राज्यसभा जाएंगे
सूत्रों के मुताबिक पूर्व केंद्रीय मंत्री व RLSP प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा की पत्नी स्नेह लता को विधान परिषद का सदस्य बनाया जाएगा। JDU उन्हें राज्यपाल कोटे से MLC बनाएगी। मंत्रिमंडल विस्तार कर नीतीश कुमार उन्हें अपनी सरकार में जगह देंगे। शिक्षा विभाग की जिम्मेदारी दी जा सकती है। जबकि उपेंद्र कुशवाहा को केंद्र की राजनीति के लिए राज्यसभा भेजा जाएगा। इन्हीं शर्तों पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उपेंद्र कुशवाहा की डील हुई है।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply