बिहार

ITI के गेस्ट इंस्ट्रक्टर को 5वां सेवा विस्तार: बिहार के 149 सरकारी ITI में 2000 इंस्ट्रक्टर चाहिए, अभी संविदा पर काम कर रहे 800; इनका मानदेय भी 5 साल पुराना

wcnews.xyz
Spread the love

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटना25 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
सभी को 5 अप्रैल 2021 के प्रभाव से सेवा विस्तार दिया गया है। - Dainik Bhaskar

सभी को 5 अप्रैल 2021 के प्रभाव से सेवा विस्तार दिया गया है।

श्रम संसाधन विभाग ने संविदा पर बहाल औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान यानी ITI के गेस्ट इंस्ट्रक्टर्स को नया सेवा विस्तार दे दिया है। बिहार में अभी 149 सरकारी ITI हैं जिसमें संविदा पर लगभग 800 गेस्ट इंस्ट्रक्टर कार्यरत हैं। राज्य के सभी गेस्ट इंस्ट्रक्टर को फिर से 11 महीने के लिए सेवा अवधि का विस्तार कर दिया है। श्रम संसाधन मंत्री जीवेश कुमार ने कहा है कि 5 अप्रैल 2021 के तत्काल प्रभाव से संविदा पर बहाल सभी अंशकालिक अतिथि व्यवसाय अनुदेशकों को सेवा विस्तार दे दिया गया है।

11 महीने का मिला है सेवा विस्तार

श्रम संसाधन विभाग के मुताबिक कोविड-19 के कारण हुए लॉकडाउन के बाद 21 सितंबर 2020 से ही राज्य के सभी सरकारी औद्योगिक प्रशिक्षण केन्द्रों में प्रशिक्षण कार्य प्रारंभ हो चुका है। लेकिन संविदा पर बहाल अनुदेशकों का कार्यकाल पूरा होने पर जारी प्रशिक्षण कार्य में रोक लगने की आशंका जताई जा रही थी। इसको लेकर ITI केन्द्रों की तरफ से विभाग को लगातार पत्राचार भी किया जा रहा था। विभाग ने इन ITI केन्द्रों में सुचारू रूप से पढ़ाई जारी रहे इसके लिए अनुदेशकों को सेवा विस्तार दे दिया है।

इससे पहले व्यवसाय अनुदेशकों के पैनल की अवधि 31 मार्च 2021 तक विस्तारित की गई थी। वर्तमान सेवा विस्तार में अंशकालिक अतिथि व्यवसाय अनुदेशकों के पैनल को 5 अप्रैल 2021 के प्रभाव से 11 माह तक अथवा नियमित नियुक्ति होने की तिथि जो पहले घटित हो, तक के लिए विस्तारित की गयी है।

सेवा विस्तार मिला, लेकिन पारिश्रमिक होगी पुरानी

शिक्षकों की कमी से जूझ रहे ITI में संविदा पर बहाल इंस्ट्रक्टर को नये सेवा विस्तार में 22 जुलाई 2016 को जारी आदेश संख्या 2344 के अनुरूप ही मानदेय का भुगतान किया जाएगा। हालांकि आज जारी अपने पत्र में श्रम संसाधन विभाग ने इंस्ट्रक्टर्स के लिए नियमितीकरण की उम्मीद को बनाए रखा है। जारी पत्र में 11 महीने अथवा नियमित नियुक्ति होने तक की तारीख तक सेवा विस्तार दिया है। ITI में प्रशिक्षणार्थियों के लिए अभी लगभग 2 हजार इंस्ट्रक्टरों की आवश्यकता है। संविदा पर बहाली में तकनीकी पेंच आने के बाद श्रम संसाधन विभाग ने अतिथि शिक्षक रखने की प्रक्रिया शुरू की। लेकिन इनकी संख्या भी बमुश्किल 800 तक आ सकी और यह कारगर नहीं हो सकी। अपनी सुविधा के अनुसार अतिथि शिक्षक ITI में आ रहे हैं। इसका सीधा असर ट्रेनिंग क्लासेज पर हो रहा है।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply