पश्चिम चंपारण

BSEB 10th Result 2021: बिहार बोर्ड मैट्रिक रिजल्ट कुछ ही देर में, जानिए बोर्ड किसे देगा ग्रेस मार्क्स और पास होने के लिए लाने होंगे कितने अंक

wcnews.xyz
Spread the love

BSEB Bihar Board Class 10 Result 2021:  बिहार बोर्ड 10वीं रिजल्ट 2021 जारी होने में अब कुछ ही समय शेष है। 1525 परीक्षा केंद्रों में आयोजित हुई इस साल मैट्रिक बोर्ड एग्जाम में करीब 16.84 लाख स्टूडेंट्स शामिल हुए हैं। जिनमें से इनमें करीब 8.46 लाख छात्र और करीब 8.38 लाख छात्राएं हैं। बीते साल बिहार बोर्ड 10वीं में कुल 80.59 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए थे, वहीं 96 फीसदी अंक के साथ हिमांशु राज ने राज्य में टॉप किया था। 

जानिए कहां चेक करें सबसे पहले नतीजे-

स्टूडेंट्स हमेशा जल्द से जल्द नतीजे चेक करना चाहते हैं, ऐसे में लाइव हिंदुस्तान आपको सबसे पहले नतीजे चेक करने का मौका देगा, इसके लिए आपको नीचे दिए गए लिंक पर रजिस्ट्रेशन करना होगा। पाएं Bihar Board Matric Result 2021 का अलर्ट सबसे पहले, Registration के लिए क्लिक करें

ये हैं पासिंग और ग्रेस मार्क्स नियम
पिछले कुछ दिनों से बिहार बोर्ड पोस्ट इवैल्यूएशन प्रक्रिया, वेरिफिकेशन और रिजल्ट अपलोडिंग से जुड़े कार्य में लगा हुआ था। परिणाम का इंतजार कर रहे स्टूडेंट्स को पासिंग मार्क्स और बिहार बोर्ड की ग्रेस मार्क्स पॉलिसी के बारे में भी पता होना चाहिए। यहां हम आपको बताने जा रहे हैं कि आखिर बिहार बोर्ड 10वीं कक्षा पास करने के लिए छात्रों को कितने नंबर लाने होंगे –

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार मैट्रिक परीक्षा में पास होने के लिए कम से कम 30 फीसदी मार्क्स लाने आवश्यक है। यानी हर विषय में छात्र के 100 में से कम से कम 30 मार्क्स होने चाहिए। एग्रीगेट 150 अंक होना जरूरी है। छात्र को पास घोषित होने के लिए इंग्लिश और ऑप्शनल सब्जेक्ट (वैकल्पिक विषय) को छोड़कर अन्य सभी विषयों में पास होना होगा। सोशल साइंस और साइंस समेत प्रैक्टिकल विषयों में छात्र को थ्योरी और इंटरनल असेसमेंट दोनों में पास होना जरूरी होगा और इसके लिए 100 में से कम से कम 30 अंक लाने होंगे।

ग्रेस मार्क्स पॉलिसी-

पास प्रतिशत बेहतर करने के लिए बिहार बोर्ड ने ग्रेस मार्क्स देने की नीति अपना रखी है।  इसके मुताबिक अगर कोई छात्र किसी एक विषय में 8 प्रतिशत या उससे कम नंबर या दो विषयों में 4-4 प्रतिशत व उससे कम नंबर से फेल हो जाता है तो उसे ग्रेस नंबर देकर अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया जाता है। वहीं अगर कोई छात्र कुल 75 प्रतिशत अंक (एग्रीगेट) हासिल करता है और किसी एक विषय में 10 प्रतिशत से कम नंबर से फेल हो जाता है तो उसे पास घोषित कर दिया जाता है।   

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply