बिहार

हो रही जांच: नशे में धराए पिकअप चालक काे छाेड़ने के लिए घायल काे मैनेज करने के लिए हुई थी पंचायती

wcnews.xyz
Spread the love

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुजफ्फरपुर2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • घायल काे 25 हजार रुपए देकर केस वापस लेने के लिए की गई थी पेशकश, लेकिन नहीं हाे सका मैनेज, दाेबारा पकड़े गए पिकअप चालक काे भेजा गया जेल

सकरा थाने से घूस लेकर नशे में धराए पिकअप वैन चालक काे छाेड़ने के मामले में थानेदार के खिलाफ जांच शुरू हाे गई है। इसमें नई बात सामने आई है कि बाेचहां के चालक श्याम सहनी काे मुक्त करने से पहले पिकअप की ठाेकर से घायल हुए वीरेंद्र राय के परिजनों काे मनाने के लिए पंचायती कराई गई थी।

25 हजार रुपए लेकर चुप बैठ रहने की पेशकश भी वीरेंद्र के परिजनों काे दी गई थी। उनके नहीं मानने पर यह मामला बिगड़ गया। थानेदार आश्वस्त थे कि वीरेंद्र का परिवार नहीं मानेगा ताे जाएगा कहां? इस तरह केस दर्ज नहीं हाेने पर वीरेंद्र के भाई हरेंद्र यादव ने एसएसपी से मामले की शिकायत कर दी।

डीएसपी पूर्वी मनाेज पांडेय ने बताया कि विभागीय स्तर पर हाे रही इस जांच की रिपाेर्ट एसएसपी काे भेजी जाएगी। इसलिए अभी इस संदर्भ में कुछ नहीं बताया जा सकता है। आवेदक के आराेप के सापेक्ष कई साक्ष्य मिले हैं। इधर, थानेदार के खिलाफ जांच शुरू हाेने के बाद पुन: पिकअप चालक काे शनिवार शाम में गिरफ्तार कर लिया गया था। रविवार काे उसे उत्पाद केस में सकरा थाने से जेल भेजा गया है।

आवेदक ममेरे भाई के दुर्घटना में घायल हाेने के कारण नहीं दे पाया बयान

थानेदार पर चालक काे छाेड़ने की शिकायत करने वाले हरेंद्र यादव काे बयान दर्ज कराने के लिए बुलाया गया था। हालांकि, रविवार काे बयान दर्ज नहीं हाे सका। हरेंद्र राय ने बताया कि डीएसपी कार्यालय से रविवार काे काॅल आया था, लेकिन वह बयान देने के लिए नहीं जा सके। उनके ममेरे भाई दुर्घटना में घायल हाे गए हैं। उन्हें देखने चले गए। एक-दाे दिन में डीएसपी के समक्ष उपस्थित हाे कर बयान देंगे।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply