झारखंड

स्मृति शेष: मौलाना वली रहमानी ने कहा था, किसी भी कौम की ताकत तालीम व टेक्नोलॉजी के मैदान में उसकी तरक्की पर निर्भर है

wcnews.xyz
Spread the love

  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Ranchi
  • Maulana Wali Rahmani Had Said, The Power Of Any Community Depends On Its Progress In The Field Of Technology And Technology.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रांची18 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • बिहार, झारखंड व ओडिशा के अमीर-ए-शरीयत मौलाना वली का पटना में निधन

किसी भी कौम की तवानाई (जोर) और ताकत तालीम व टेक्नोलॉजी के मैदान में उसकी तरक्की पर निर्भर है। इसके लिए जरूरी है कि बेहतर एदारे (संस्थान) बनाए जाएं। ऐसे कोचिंग सेंटर खोले जाएं, जहां स्टूडेंट्स को कंपीटिशन की तैयारी कराई जाए, ताकि हमारी आनेवाली नस्लें भी तरक्की की राह पर चल रही कौमों के साथ खड़ी हो सकें। रांची में लाेगाें काे ये नसीहत देने वाले बिहार, झारखंड व ओडिशा के अमीर-ए-शरीयत हजरत मौलाना वली रहमानी के शनिवार काे पटना के एक निजी अस्पताल में निधन की जानकारी मिलते ही राजधानी के मुस्लिम समाज में शोक फैल गई।

हजरत अमीर-ए-शरीयत के साथ ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के महासचिव, साथ ही रहमानी 30 के संस्थापक और खानकाह रहमानी, मुंगेर के सज्जादानशीं भी थे। रहमानी-30 में उच्च शिक्षा हासिल कर छात्र डॉक्टर-इंजीनियर बन देश की सेवा कर रहे हैं। उनके निधन पर शिया मौलाना सैयद तहजीबुल हसन रिजवी ने कहा कि वली रहमानी एक शख्स नहीं, बल्कि एक शख्सियत थे। वहीं, सेंट्रल मोहर्रम कमेटी के महासचिव अकिलुर्रहमान, झारखंड हज समिति के पूर्व चेयरमैन मंजूर अहमद अंसारी, पूर्व प्रवक्ता खुर्शीद हसन रूमी, मरहबा सोसाइटी के नेहाल अहमद, हाजी हलीम, छात्र नेता एस अली, इराकी पंचायत के सदर अब्दुल मन्नान, अंजुमन इस्लामिया के उपाध्यक्ष मंजर इमाम ने इसे पूरी दुनिया के मुसलमानों के लिए बड़ा नुकसान बताया।

ट्रिपल तलाक व अन्य मामलों में समाज की रहनुमाई की थी

मौलाना वली रहमानी को सुपुर्दे खाक खानकाह रहमानिया मुंगेर में किया जाएगा। अमीर-ए-शरियत मौलाना रहमानी देश ही नहीं, दुनियाभर में इस्लामी स्कॉलर के रूप में जाने जाते हैं। ट्रिपल तलाक और बाबरी मस्जिद सहित कई मामलों में उन्होंने मुस्लिम समाज की रहनुमाई की। खानकाह रहमानिया के अहाते में उनके अब्बा हजरत मौलाना मिन्नतुल्लाह रहमानी की कब्र के बगल में उन्हें दफन किया जाएगा। मौलाना वली रहमानी के अब्बा मौलाना मिन्नतुल्लाह रहमानी ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के संस्थापक सदस्य थे। वहीं, मौलाना वली रहमानी बिहार विधान परिषद के सदस्य (एमएलसी) भी रह चुके थे।

15 मार्च को स्कूल भवन की रखी थी आधारशिला

अमीर-ए-शरीयत बीते 13 मार्च को रांची तशरीफ लाए थे। 13-14 मार्च को लेक रोड स्थित राईन उर्दू गर्ल्स हाई स्कूल में आयोजित खुसूसी मुशावरती इजलास की अध्यक्षता की थी। इसके तीसरे दिन इरबा स्थित ओयना में इमारत इंटरनेशनल स्कूल का शिलान्यास किया था। कहा था- यहां सीबीएसई पैटर्न से पढ़ाई के साथ दीनीयात (धार्मिक) और उर्दू की तालीम भी दी जाएगी।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply