व्यपार

सोना खरीदने का सही समय: फिर महंगा होने लगा है सोना, अभी नहीं खरीदने पर 50 हजार रुपए से भी ज्यादा में खरीदना पड़ेगा

wcnews.xyz
Spread the love

  • Hindi News
  • Business
  • Gold Rate; Gold Silver Price 24 March 2021 Latest Update | What Is Delhi Mumbai Sarafa Bazar Sona Chandi Ka Bhav Today?

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

सोने और चांदी की चमक फिर से बढ़ने लगी है। 24 मार्च को 24 कैरेट सोना 44,895 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया। हालांकि चांदी की चमक इस महीने कम हुई है। मार्च को सोना 65,732 पर था जो अब 64,853 रुपए प्रति किलो पर पहुंच गई है। विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना की दूसरी लहर और शादियों का सीजन शुरू होने के कारण सोने की मांग बढ़ने लगी है। IIFL सिक्योरिटीज के वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी एंड करेंसी) अनुज गुप्ता कहते हैं कि इस साल के आखिर तक सोना एक बार फिर 52 हजार रुपए तक पहुंच सकता है।

मार्च की शुरुआत में सोना 43,900 पर आ गया था
5 मार्च को सोना 43,887 रुपए प्रति 10 ग्राम पर आ गया था। ऐसे में तक से अब तक सोना करीब 950 रुपए महंगा हो गया है। विशेषज्ञों का मानना है कि शादियों का सीजन शुरू होने वाला है, इस कारण सोने की मांग बढ़ने लगी है।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी सोना 1,731 डॉलर प्रति औंस पर आया
अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी सोना महंगा होने लगा है। सोने की कीमत 1,731 अमेरिकी डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गई है। वैश्विक वायदा भाव कॉमेक्स पर सोना 1,734 डॉलर प्रति औंस पर है। एक समय सोना 1,720 डॉलर प्रति औंस के स्तर से नीचे आ गया था।

52 हजार तक जा सकता है सोना
IIFL सिक्योरिटीज के वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी एंड करेंसी) अनुज गुप्ता कहते हैं कि कोरोना के कारण अगस्त 2020 में सोना 56 हजार पर पहुंच गया है और अब एक बार फिर देश और दुनिया में कोरोना की दूसरी लहर आ गई है। इसके अलावा अब शादी को सीजन शुरू हा चुका है इस कारण भी सोने में बढ़त देखने को मिल रही है।

इसके अलावा मई महीने में अक्षय तृतीया भी है उससे भी सोने की मांग बढ़ेगी और सोने के दाम बढ़ सकते हैं। अनुज गुप्ता के अनुसार इसके चलते सोने के दाम एक बार फिर 52 हजार रुपए पर पहुंच सकते हैं। ऐसे में अगर कोई निवेशक गोल्ड में निवेश करना चाहता है तो ये सही समय हो सकता है।

सोने को डॉलर में कमजोरी का लाभ मिलेगा
जहां तक भारत में निवेश के लिहाज से बड़ी अहमियत रखने वाले निवेश विकल्प सोने की बात है तो इसमें भी मजबूती आएगी। केडिया एडवाइजरी के डायरेक्टर अजय केडिया के मुताबिक इसको डॉलर और बॉन्ड मार्केट में बढ़े दबाव का फायदा मिलेगा। उनके मुताबिक, सोने की कीमत को आने वाले समय में अक्षय तृतीया और गुड़ी पाड़वा जैसे त्योहार और शादी के सीजन से सपोर्ट मिल सकता है।

सोना 7% और चांदी 20% का रिटर्न दे सकता है
जहां तक शॉर्ट टर्म में सोने से मिलने वाले फायदे की बात करें तो यह आपको लगभग 7% का रिटर्न दे सकता है। केडिया के मुताबिक, बाजार के मौजूदा हालात सोने के 47000 रुपए प्रति 10 ग्राम तक जाने के संकेत दे रहे हैं। सोना जून अंत तक 42,500 से 47,000 रुपए प्रति दस ग्राम की रेंज में रह सकता है।

इंडस्ट्रियल यूज में बढ़ोतरी के अलावा कथित तौर पर सटोरिया गतिविधियों के चलते चांदी में मजबूती जारी रह सकती है। यह जून तक 20% का रिटर्न दे सकता है। चांदी का भाव पहली तिमाही के अंत तक 60,000 से 80,000 रुपए की रेंज में रह सकता है।

अगस्त 2020 में 56,200 पर पहुंच गया था सोना
अगस्त 2020 में सोना 56,200 रुपए प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया था। कोरोना महामारी के कारण निवेशकों में डर का माहौल बना हुआ था। हमेशा देखा गया है कि जब भी शेयर बाजार में नुकसान की आशंका हो, डॉलर की तुलना में अन्य मुद्रा कमजोर पड़ने की नौबत हो तो सोने के भाव में उछाल देखा जाता है। लेकिन वैक्सीन आने के बाद सोने के दामों में लगातार गिरावट देखी जा रही थी और ये 44 हजार के नीचे आ गई थी।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply