झारखंड

सड़काें का शिलान्यास: गडकरी- राज्य जमीन और फाॅरेस्ट क्लीयरेंस दे, 3 साल में अमेरिका जैसी सड़कें बना देंगे

wcnews.xyz
Spread the love

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रांची16 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar

फाइल फोटो

  • सीएम- सड़क और गंगा पुल निर्माण में तेजी लाए केंद्र
  • केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री ने झारखंड में सात सड़काें का उद‌्घाटन और 14 सड़काें का शिलान्यास किया

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने शनिवार काे सात सड़काें का ऑनलाइन उद्घाटन और 14 सड़काें का शिलान्यास किया। कुल 539 किमी सड़क याेजनाओं पर 3550 कराेड़ रुपए खर्च हाेंगे। इस माैके पर गडकरी ने कहा कि झारखंड सरकार सड़काें का प्रस्ताव भेजे, केंद्र तुरंत उसकी मंजूरी देगा। उन्हाेंने मुख्यमंत्री हेमंत साेरेन से कहा कि आपका 675 कराेड़ का वार्षिक प्लान है। हम उसे 5000 कराेड़ का कर देते हैं।

राेड सेक्रेट्री से पांच हजार कराेड़ का प्लान भिजवाइए, उसे तत्काल स्वीकृति देता हूं। ब्रिज-आरओबी जाे भी चाहिए, सब मिलेगा। इसके बाद झारखंड सरकार ने 406 किमी लंबी 10 नई सड़क परियाेजनाओं का प्रस्ताव केंद्र काे भेजने की तैयारी कर ली। इनकी डीपीआर तैयार है। इनमें दाे बाईपास और आठ सड़काें के चाैड़ीकरण और सुदृढ़ीकरण का प्रस्ताव है। इन याेजनाओं पर कुल 3650 कराेड़ रुपए खर्च हाेने का अनुमान है।

झारखंड की परियोजनाओं को तत्काल मंजूरी देंगे

खनिज संपदाओं की ढुलाई के लिए अच्छी सड़कें जरूरी

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में खनिज संपदाओं की ढुलाई सबसे ज्यादा सड़क मार्ग से हाेती है। इसलिए यहां अच्छी सड़कें जरूरी है। केंद्र का यह प्रयास सराहनीय है। उन्हाेंने भारतमाला परियोजना के तहत रायपुर-धनबाद, संबलपुर-रांची, वाराणसी-रांची, रांची-पारादीप व बख्तियारपुर-ओरमांझी इकोनॉमिक कॉरिडोर और साहिबगंज में गंगा नदी पर पुल निर्माण कार्य में तेजी लाने का आग्रह किया। झारखंड काे बंगाल, ओडिशा और यूपी से हाई स्पीड काॅरिडाेर से जाेड़ने की मांग की।

तीन साल में सड़काें पर एक लाख कराेड़ रुपए खर्च हाेंगे

  • शैक्षणिक, आर्थिक और सामाजिक रूप से पिछड़े राज्य उनकी प्राथमिकता में हैं। ऐसे राज्याें में झारखंड भी शामिल है। यहां की सड़क परियाेजनाओं काे तत्काल स्वीकृति दी जाएगी।
  • भारतमाला फेज-2 में झारखंड की सड़कें जरूर शामिल की जाएंगी। तीन साल में राज्य में सड़क निर्माण पर एक लाख कराेड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।
  • फॉरेस्ट क्लीयरेंस मामले में केंद्र के स्तर पर खुद केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री के पास जाकर समस्या का हल कराएंगे।

शिलान्यास का शिलान्यास- अर्जुन मुंडा द्वारा किए 2 सड़कों का दोबारा शिलान्यास, 2 अधूरी सड़कों का भी उद‌्घाटन

नितिन गडकरी ने शनिवार काे एनएच 143 के सिमडेगा से काेलेबिरा और सिमडेगा से बांसजाेर तक सड़क के मजबूतीकरण का शिलान्यास किया। इससे पहले केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने सितंबर 2020 में इन सड़काें का शिलान्यास किया था। दरअसल बारिश के समय इन सड़काें की स्थिति खराब हाे गई थी। सिर्फ गड्ढे ही गड्ढे थे। शिकायत मिलने के बाद अर्जुन मुंडा ने शुरू करा दिया। सिमडेगा-काेलेबिरा राेड पर 50% और सिमडेगा-बांसजाेर राेड पर 30% काम हाे चुका है। छिंदा पुल का भी गडकरी ने शिलान्यास किया। इसका भी अर्जुन मुंडा पहले ही शिलान्यास कर चुके हैं।

पिस्कामाेड़ से बीजूपाड़ा व बीजूपाड़ा से कुड़ू सड़क अभी नहीं हुई है पूरी

इन दाेनाें सड़काें का नितिन गडकरी ने शनिवार काे उद्घाटन किया। इस राेड में मुरगू के पास काम अधूरा है। मांडर मिशन के सामने सड़क की चाैड़ाई कम है। वहीं बीजूपाड़ा से कुड़ू के बीच साेंस और पंडरी में काम अधूरा पड़ा है। इसके आगे पेंड्रा राेड में भी जगह-जगह नाली नहीं बनाई गई है।

  • हजारीबाग-बरही राेड पर आवागमन चालू है। इसका भी शनिवार काे उद्घाटन हुआ।
  • चंदवा के इंदिरा गांधी चाैक से गाेनिया तक सड़क चाैड़ीकरण का काम दाे महीने पहले ही शुरू हाे चुका है, जिसका शिलान्यास किया गया।
  • घाघरा-गुमला राेड- करीब सालभर पहले ही बन बनकर तैयार है, जिसका उद्घाटन किया।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply