झारखंड

रांची में एक लाख टन कोयले में लगी आग: CCL हेडक्वार्टर के दबाव में क्षमता से अधिक उत्पादन कर कोयला बर्बाद कर रही अशोक परियोजना, 50 घरों में बांट रही बीमारी

wcnews.xyz
Spread the love

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रांची (पिपरवार)8 घंटे पहले

15 दिन पहले छोटे पैमाने पर आग लगी थी लेकिन एक सप्ताह पहले इसने विकराल रूप ले लिया है।

सेंट्रल कोल्फील्ड लिमटेड (CCL) के पिपरवार क्षेत्र के अशोक परियोजना में कोयला के पैच और स्टॉक में आग लग गई है। पिछले 15 दिनों से यह आग धीरे-धीरे कर विकराल रूप धारण कर रही है। प्रबंधन के मुताबिक, लगभग एक लाख टन कोयले के ढेर में आग लगी है जिससे प्रबंधन को कम से कम 3 करोड़ रुपए के नुकसान का अनुमान है।

अशोक परियोजना के परियोजना पदाधिकारी अवनीश कुमार ने बताया कि हेडक्वार्टर से विभिन्न परियोजनाओं को उत्पादन का लक्ष्य दिया जाता है। इसी टारगेट को पूरा करने के दबाव में कोयले का क्षमता से अधिक उत्पादन कर लिया गया है। लेकिन संसाधन और समय की कमी होने के कारण समय पर इनको डिस्पैच नहीं किया जा सका। अब गर्मी बढ़ते ही कोयले में आग लग गई है।

आग लगने से आसपास के इलाकों में तेजी से जहरीला हवा फैल रहा है। इसके कारण ग्रामीणों में भय का माहौल है। अशोक परियोजना से सटे एक गांव जिसमें लगभग 50 घर हैं। धुआं के कारण उनका वहां रहना दूभर हो गया है। सदर अस्पताल रांची के उपाधीक्षक डॉ. एस मंडल ने बताया कि कोयले के धुआं में कार्बन मोनो ऑक्साइड मात्रा सबसे अधिक होती है। इसके कारण दमा समेत फेफड़े से संबंधी अन्य बीमारियों के होने का खतरा रहता है।

अधिकारी ने कहा- 3 करोड़ का मामूली नुकसान, कंट्रोल कर लिया जाएगा
अवनीश कुमार ने बताया कि कोयला जलने का स्तर बहुत ही कम है इसे जल्द डिस्पैच कर विभिन्न प्लांट में भेज दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि आग पर काबू पा लिया गया है। पानी का छिड़काव कर आग को बुझाने का कार्य किया जा रहा है जल्द आग पर पूरी तरह से काबू पा लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि ये मामूली नुकसान है।

मजदूर यूनियन ने कहा- मजदूरों की मेहनत पर पानी फेर रह प्रबंधन
इस संबंध में यूनियन के प्रतिनिधि ने कहा कि CCL प्रबंधन की कोताही के कारण सरकार को करोड़ों का नुकसान हो रहा है। वहीं, मजदूरों की मेहनत पर पानी फेर जा रहा है। एक तरफ से प्रबंधन मजदूरों पर उत्पादन के लिए प्रबंधन प्रेशर डालती है वहीं दूसरी तरफ रखरखाव के अभाव के कारण कोयला में आग लग रहा है।

रिपोर्ट- अर्पण चक्रवर्ती

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply