बिहार

यह खतरनाक है: सर, खाना खाकर आ रहे; इसलिए नहीं पहना मास्क

wcnews.xyz
Spread the love

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भागलपुरएक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • लाेग जेब में रख रहे मास्क, चेहरे पर नहीं लगा रहे, पकड़े जाने पर बनाते हैं बहाना

काेराेना का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। ऐसे में बचाव के लिए मास्क पहनना सबसे जरूरी है। एक दिन पहले जब स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव भागलपुर आए ताे उन्हाेंने लाेगाें से अपील की कि काेराेना से डरने की काेई आवश्यकता नहीं है, लेकिन मास्क अनिवार्य रूप से पहनें। ऐसी ही अपील डीएम भी लगातार कर रहे हैं। इसके बाद भी लाेग मास्क पहनने से परहेज कर रहे हैं। लाेग पाॅकेट में मास्क लेकर घूम रहे हैं, लेकिन चेहरे पर लगाने से बचते हैं। इसका पता तब चला जब लगातार मास्क चेकिंग अभियान चल रहा है।

चेकिंग के दाैरान जब लाेग पकड़ाते हैं, ताे जांच मजिस्ट्रेट काे पाॅकेट से मास्क निकालकर दिखाने लगते हैं। इस दाैरान लाेग तरह-तरह के बहाने बनाने लगते हैं। कुछ कहते हैं कि खाना खाकर आ रहे हैं, इसलिए मास्क नहीं पहने हैं, ताे कुछ कहते हैं कि मास्क खरीदने के पैसे नहीं हैं। गुरुवार काे तातारपुर चाैक पर जब जांच मजिस्ट्रेट राजेंद्र चंद्रवंशी के सामने पुलिस ने बिना मास्क पहने एक व्यक्ति काे पकड़कर लाया ताे वह कहने लगे-सर भूखा हूं, खाने के लिए भी पैसे नहीं हैं, फाइन कहां से दूं। हालांकि उनकी ये बात सुनकर उन्हें छाेड़ जरूर दिया गया। लेकिन उन्हें बताया गया कि काेराेना से बचाव के लिए मास्क पहनना बेहद जरूरी है, इसलिए इसमें किसी तरह की काेताही नहीं बरतें।

3 माह में 21 हजार लाेगाें से वसूला जुर्माना

इस साल की शुरुआत से लेकर पांच अप्रैल तक करीब 21 हजार 890 लाेग बिना मास्क के जिलेभर में पकड़ाए। जबकि अब जबकि दाेबारा से काेराेना का संक्रमण बढ़ा है ताे पांच अप्रैल से फिर से मास्क चेकिंग अभियान में तेजी आई है। केवल पांच मार्च से पांच अप्रैल तक नाै हजार लाेगाें काे बिना मास्क के पकड़ा गया है और उनसे करीब 4.5 लाख रुपए फाइन किया जा चुका है। इसके बाद भी लाेग मास्क पहनने से परहेज कर रहे हैं। ऐसे में जांच मजिस्ट्रेट न केवल बिना मास्क पहने लाेगाें से फाइन वसूल रहे हैं, बल्कि उनलाेगाें काे मास्क पहनने के लिए प्रेरित भी कर रहे हैं। गुरुवार काे केवल सदर अनुमंडल क्षेत्र में 201 लाेगाें से 10 हजार 50 रुपए फाइन की वसूली की गई। सदर एसडीओ ने इसकी रिपाेर्ट डीएम काे साैंपी है।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply