बिहार

मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट में उलझी BJP: पंचायत चुनाव में पार्टियों का झंडा लहराने पर रोक से परेशान बिहार BJP, राज्य निर्वाचन आयोग के सामने अब करेगी फरियाद

wcnews.xyz
Spread the love

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटना27 मिनट पहलेलेखक: शालिनी सिंह

  • कॉपी लिंक

बिहार के पंचायत चुनाव में पहली बार दम-खम दिखाने को तैयार BJP को राज्य निर्वाचन आयोग के ‘मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट’ ने मुश्किल में डाल दिया है। BJP के लिए मुश्किल यह है कि वो जिला परिषद् में समर्थित उम्मीदवार उतारने का ऐलान कर चुकी है। लेकिन राज्य निर्वाचन आयोग ने राजनीतिक पार्टियों को अपना झंडा तक पंचायत चुनाव में लहराने पर रोक लगा दिया है।

समर्थित उम्मीदवार के पीछे झंडा लेकर चलने की थी तैयारी

BJP बिहार की पहली और एकमात्र ऐसी पार्टी है जिसने पंचायत चुनाव में समर्थित उम्मीदवार उतारने का फैसला लिया है। BJP की मुश्किल यह है कि बिहार में पंचायत चुनाव दलगत आधार पर नहीं हो रहे हैं। राज्य निर्वाचन आयोग ने जारी किए गए मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट में उम्मीदवारों को साफ निर्देश दे दिया है कि किसी भी राजनीतिक दल के नाम पर या दल के झंडे की आड़ में चुनाव प्रचार कार्य नहीं होना चाहिए। ऐसे में BJP का प्रदेश नेतृत्व समर्थित उम्मीदवारों का साथ देने को लेकर उलझन में है। पार्टी के नेताओं ने पूर्व में जो प्लानिंग की थी, उसमें उम्मीदवारों के समर्थन में पार्टी कार्यकर्ताओं की टोलियों को प्रचार में लगाने का निर्णय लिया था।

पुराने अभ्यर्थियों पर कार्रवाई BJP के लिए बन सकती है परेशानी

राज्य निर्वाचन आयोग ने हाल में जिला निर्वाचन पदाधिकारियों को पत्र भेजकर वैसे पू्र्व अभ्यर्थियों की लिस्ट मांगी है, जिन्होंने 2016 पंचायत चुनाव के खर्च का ब्यौरा नहीं दिया है। आयोग ने अपने पत्र में साफ बताया है कि जिन पूर्व अभ्यर्थियों ने अबतक खर्च का ब्यौरा नहीं दिया है, उन्हें आगामी पंचायत चुनाव लड़ने के लिए आयोग्य घोषित किया जा सकता है। आयोग के इस पत्र को लेकर BJP परेशानी में है। क्योंकि BJP ने अभी तक जो समर्थित उम्मीदवारों की लिस्ट तैयार की है, उनमें से कई ऐसे हैं जिन्होंने तब चुनाव लड़ा था और खर्च का ब्यौरा जमा नही कर पाए थे। ऐसे में उनकी उम्मीदवारी पर अभी से खतरा मंडराने लगा है।

निर्वाचन आयोग को आवेदन देने की तैयारी कर रही BJP

BJP का पंचायती राज प्रकोष्ठ, राज्य निर्वाचन आयोग की तरफ से दिए गए इन निर्देशों को लेकर जल्द ही आवेदन देने की तैयारी कर रही है। BJP अपने आवेदन में आयोग के निर्देशों से जुड़ी अपनी तमाम परेशानियों को लेकर अपना पक्ष रखेगी। असल में आयोग की तरफ से जारी हो रहे निर्देशों की वजह से BJP के नीचे के कार्यकर्ताओं में जबदस्त उलझन है और पार्टी इन्हीं उलझनों का हल निकालने की कोशिशों में लगी है।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply