झारखंड

मां की डांट से नाराज बेटे ने दी जान: मां ने मोबाइल पर गेम खेलने से किया था मना, 10वीं के छात्र ने कमरे में फांसी लगा की आत्महत्या

wcnews.xyz
Spread the love

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चाईबासा4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मोबाइल पर गेम खेलने से मां ने अपने 15 वर्षीय बेटे को मना किया तो इससे नाराज बेटा शिव शंकर पूर्ति ने मंगलवार की रात अपने कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। यह घटना डांगुआ पोसी मुंडासाई की है। मृतक छात्र गांव के ही उच्च विद्यालय में दसवीं कक्षा का छात्र था। इस संबंध में पुलिस ने आत्महत्या का मामला दर्ज कर शव को सदर अस्पताल में पोस्टमाॅर्टम कराकर बुधवार को परिजनों के हवाले कर दिया।

घटना के संबंध में ग्रामीणों ने बताया कि मंगलवार की शाम मां ने अपने बेटे को मोबाइल पर गेम खेलते हुए देखा। मां ने बेटे को डांटा और गेम खेलने से मना करते हुए पढ़ाई पर ध्यान देने की बात कही। मां की बात से शिव शंकर पूर्ति नाराज हो गया और मोबाइल मां की ओर फेंकते हुए बोला, ‘यह लो तुम्हारा मोबाइल…’ और वहां से चला गया। रात को शिव शंकर भोजन किया और अपने कमरे में सोने चला गया। बुधवार की सुबह जब देर तक उसके कमरे का दरवाजा नहीं खुला तो मां ने दरवाजे पर दस्तक देकर बेटे को आवाज लगाई। काफी देर तक आवाज लगाने के बाद भी जब दरवाजा नहीं खुला तो संदेह के आधार पर परिवार के लोगों ने सब्बल से दरवाजे की छिटकिनी तोड़ी तो अंदर रस्सी के सहारे छात्र की लाश लटक थी।

पुलिस आत्महत्या की हर बिंदु पर कर रही है तहकीकात
परिजनों ने शिव शंकर पूर्ति की खुदकुशी की जानकारी गांव के मुंडा को दी। फिर गांववालों ने पुलिस को खबर की। घटनास्थल पर पुलिस पहुंची और लाश को रस्सी के फंदे से नीचे उतारा। पुलिस ने कहा कि आत्महत्या की हर बिंदु पर पुलिस तहकीकात की जा रही है। पुत्र की मौत के बाद मां बार-बार रोते हुए बेहोश हो जा रही थी।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply