भारत

महाराष्ट्र में MNS चीफ का विवादित बयान: राज ठाकरे ने कहा- बाहरी लोगों की वजह से बढ़ा कोरोना, उन्हीं की वजह से घर में कैद हैं महाराष्ट्र के लोग

wcnews.xyz
Spread the love

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान राज ठाकरे ने कहा- कल मैंने मुख्यमंत्री को फोन किया था। उनसे मिलना चाह रहा था, लेकिन वे कोरोना की वजह से मिल नहीं सके। - Dainik Bhaskar

एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान राज ठाकरे ने कहा- कल मैंने मुख्यमंत्री को फोन किया था। उनसे मिलना चाह रहा था, लेकिन वे कोरोना की वजह से मिल नहीं सके।

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों, एंटीलिया केस और वसूली के आरोप में घिरी उद्धव सरकार पर निशाना साधने के लिए आज महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे मंगलवार को मीडिया के सामने आये। इस दौरान उन्होंने कहा कि सरकार मूल मुद्दे से भटक गई है। इस बात की जांच होनी चाहिए कि एंटीलिया के बाहर सचिन वझे ने किसके कहने पर विस्फोटक रखा। कोरोना के बढ़ते मामलों के लिए उन्होंने बाहर से आने वाले लोगों को जिम्मेदार बताया। उन्होंने कहा कि बाहरी राज्य के लोगों की वजह से महाराष्ट्र के लोग घर में लॉक हैं।

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान राज ठाकरे ने कहा- कल मैंने मुख्यमंत्री को फोन किया था। उनसे मिलना चाह रहा था। लेकिन, उन्होंने बताया कि उनके आस-पास के लोग कोरोना पॉजिटिव है, वे खुद भी क्वारैंटाइन हैं, जिसके बाद जूम ऐप से बात हो पाई।

एंटीलिया के बाहर स्कॉर्पियो किसने रखी इसकी जांच होनी चाहिए
अनिल देशमुख के इस्तीफे पर राज ठाकरे ने कहा कि कारनामे होंगे तो इस्तीफा तो होगा ही, लेकिन मूल मुद्दा यह नहीं है। अनिल देशमुख मेरे लिए महत्वपूर्ण विषय नहीं। अहम मुद्दा मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक पुलिस ने रखी, वो किसके कहने पर रखी? पुलिस बिना किसी इजाजत के ऐसा काम नहीं करती। जिलेटिन वाली गाड़ी रखवाई किसने, मुख्य मुद्दा यही है। उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं है कि यह वसूली पहले नहीं हुआ करती थी। अगर पूर्व मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह का तबादला नहीं होता तो क्या वो ये राज बाहर लाते?

मूल मुद्दे से भटक गई है सरकार
इस बीच उन्होंने एक गायक के आलाप की मिसाल दी जिसमें वो गायक गाना गा रहा था उसके बाद वो अपनी तान में खो गया। तान इतनी लंबी गई कि वो भूल गया कि कौन सा गाना गा रहा था। अलग तान लगाने में मूल मुद्दा छूट रहा है। आत्महत्या सुशांत की हुई, जेल में अर्णब गोस्वामी गए। ऐसे और भी कई उदाहरण है। अभी पता ही नहीं लग रहा कि उद्धव ठाकरे के हाथ में राज्य आया है कि उनके सिर पर राज्य का बोझ उतर आया है।

बाहरी लोगों की वजह से राज्य में कोरोना बढ़ा
कोरोना के बढ़ते संक्रमण पर बोलते हुए राज ठाकरे ने कहा कि पिछली बार जो कोरोना की लहर आई थी, उससे भी बड़ी लहर अब आई है। महाराष्ट्र एक औद्योगिक राज्य है इसलिए यहां बाहर से आने वाले लोगों की संख्या अधिक है। अभी हमने देखा कि पश्चिम बंगाल में चुनाव है, भीड़-भाड़ है लेकिन कोरोना नहीं है। ऐसा लगता है कि सिर्फ महाराष्ट्र में ही कोरोना है, क्योंकि यहां दूसरे राज्यों से लोग ज्यादा आते हैं। एक और बात यह है कि अन्य राज्यों में अधिक टेस्टिंग नहीं हो रही है, टेस्टिंग होगी तब आंकड़े आएंगे।

बाहर के लोगों की वजह से घर में हैं महाराष्ट्र के लोग
राज ठाकरे ने कहा कि अब राज्य सरकार बाहर से आने वाले लोगों की टेस्टिंग अनिवार्य करे। कोई भी आता है, कोई भी जाता है, इस वजह से महाराष्ट्र के नागरिकों को घर में रहना पड़ता है। इससे विद्यार्थियों व्यापारियों और अन्य धंधे करने वालों को परेशानियां उठानी पड़ती हैं। आज कोरोना है कल कोई और बीमारी आ सकती है, इसलिए बाहर से आने वालों की टेस्टिंग और हेल्थ चेकअप जैसी चीजें नियमित और अनिवार्य होनी चाहिए।

बैंको की सख्ती रोकें, बिजली बिल माफ करें
राज ठाकरे ने कहा कि बैंकों की तरफ से EMI वसूलने के लिए सख्ती की जा रही है, यह ठीक नहीं है। यह ठीक है कि बैंक की EMI सही समय पर भरना चाहिए, लेकिन पैसे होंगे तभी देंगे ना। सख्ती हटाने के लिए राज्य सरकार बैंकों को निर्देश दें। बिजली बिल को लेकर भी लोगों को राहत देना जरूरी है।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply