बिहार

मधुबनी कांड पर तेजस्वी की चुनौती: विनोद नारायण झा और बेनीपट्‌टी SHO की कॉल डिटेल में निकलेगा ‘सरकार के प्रभाव’ का सारा सच

wcnews.xyz
Spread the love

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Tejashwi Yadav | Tejashwi Yadav Challenged Nitish Kumar Government Over Madhubani Incident

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटना9 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • JDU ने तेजस्वी को दिया जवाब- राजद काल में 118 नरसंहार हुए थे

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने मधुबनी कांड पर सरकार को चुनौती दे दी है। उन्होंने साफ तौर पर कह दिया है कि पूर्व मंत्री विनोद नारायण झा और स्थानीय थाना प्रभारी की फोन कॉल डिटेल निकालें, दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। उन्होंने कहा कि कल तक किसी नामजद की गिरफ्तारी नहीं हुई थी। परिजनों से मिलने गए तो उन्होंने बताया कि पुलिस प्रवीण झा को छोड़ने नेपाल गई थी। पुलिस को सब पता है कि किसने अपराध किया और कहां छुपा है। कॉल डिटेल से सरकार के प्रभाव का सारा सच बाहर आ जाएगा।

सरकार के मंत्री भी मधुबनी कांड को मान रहे नरसंहार
तेजस्वी ने कहा कि नीतीश कुमार इसे नरसंहार मानें या न मानें, लेकिन उनके मंत्री नीरज कुमार बबलू इसे नरसंहार कह चुके हैं। नीतीश कुमार पीड़ित परिवार की बात न सुन DSP की बात मान रहे हैं। तेजस्वी ने कहा कि मुझ पर आनन-फानन में 307 का मुकदमा कर दिया गया, लेकिन मधुबनी में परिजनों का आरोप विनोद नारायण झा पर है। उन पर 307 लगना चाहिए कि नहीं? मंत्री रामसूरत राय के भाई की गिरफ्तारी भी आज तक नहीं हुई।

अब तक फॉरेंसिंक टीम नहीं पहुंची
तेजस्वी ने कहा कि अब तक सबूत जुटाने के लिए किसी भी फॉरेंसिक टीम को मधुबनी नहीं बुलाया गया। इसका मतलब हर कोई समझ सकता है। केस को कमजोर बनाने की साजिश हो रही है। रावण सेना के प्रवीण झा की गिरफ्तारी हुई है, लेकिन परिवार का आरोप विनोद नारायण झा पर भी है।

बिहार पुलिस JDU पुलिस बन गई है
तेजस्वी ने पीड़ितों से मुलाकत के बाद कहा कि मधुबनी में नरसंहार हुआ। बिहार में खून की होली खेली जा रही है। बिहार पुलिस JDU पुलिस बन गई है। बिहार में अपराधियों का तांडव हर दिन हो रहा है। मधुबनी कांड के बाद SP, DSP, IG या फिर DM कोई भी प्रशासन के उच्चाधिकारी परिजनों से मिलने नहीं पहुंचे। नीतीश कुमार एक ही जात और एक जिले के मुख्यमंत्री बनकर रह गए हैं।

बिहार में 1 CM,2 डिप्टी CM फिर भी नहीं गए मधुबनी
नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पटना जिले से बाहर निकलते ही नहीं। पीड़ितों के आंसू पोछने के लिए कहीं नहीं जाते। बिहार में दो-दो डिप्टी CM हैं, लेकिन कोई भी मधुबनी क्यों नहीं गया? हमलोगों ने परिजनों को 11लाख रुपए की मदद की है। परिजन को सरकार सरकारी नौकरी दे।
मैं जब मधुबनी गया तब उसके बाद नेपाल से प्रवीण झा की गिरफ्तारी दिखाई जा रही है। गोपालगंज, चंपारण, कटिहार में अपराध साफ-साफ दिखा। बिहार पुलिस गुंडों की सुरक्षा में लगी हुई है। मुकेश हत्याकांड में क्या हुआ? जिस परिवार पर शक है, उस पर कार्रवाई होनी चाहिए।

एक दिन के लिए पूरा मधुबनी बंद कराया जाएगा
तेजस्वी ने बताया कि मधुबनी एक दिन के लिए बंद कराया जाएगा, इसका फैसला महागठबंधन लेगा। कहा-राजद के विधायकों को विधानसभा में पीटा गया। राजद के नेता को 27 गोलियां मारी जा रही है। चुनाव के बाद से अब तक मुझ पर 5 मुकदमे सरकार करवा चुकी है। सरकार जवाब दे तेजस्वी यादव किसकी हत्या करना चाहते थे, जो मुझ पर 307 लगाया गया। चुनाव के दौरान मेरे पर हत्या का आरोप लगाया, लेकिन क्या हुआ। ये लोग डराने-धमकाने वाला काम करते रहे हैं, लेकिन उनसे डरता कौन है।

JDU का पलटवार, RJD के काल में 118 नरसंहार हुए
JDU के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने तेजस्वी के बयान पर कहा है कि तेजस्वी यादव को अपने माता-पिता के शासनकाल को याद करना चाहिए, जिनके समय 118 नरसंहार हुए। उस समय नरसंहार करने वाले अपराधी को एक अणे मार्ग में जगह मिलती थी। नीतीश कुमार के राज में पाताल से भी अपराधी को खोज कर सलाखों के पीछे पहुंचाया जाता है। कहा कि यह कोई नरसंहार नहीं, बल्कि आपसी विवाद था।मधुबनी जाने के बाद हमने कहा था कि 72 घंटे के अंदर अपराधी पकड़े जाएंगे और उचित कार्रवाई होगी। प्रवीण झा और उसके साथ चार लोग पकड़े गए। बुलडोजर से उसका घर ढाहा गया। कहा कि तेजस्वी यादव ने बताया क्यों नहीं कि उनके पिता के राज में कहा गया था भूराबाल साफ करो। तेजस्वी पर घड़ियाली आंसू बहाने का आरोप संजय सिंह ने लगाया।

कांग्रेस ने की फास्ट ट्रैक कोर्ट से सजा दिलाने की मांग
मधुबनी कांड को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रेमचंद्र मिश्रा ने मुख्यमंत्री से मांग की कि अभियुक्त को फास्ट ट्रैक कोर्ट से सजा दिलवाएं। जिनके घर में हत्या हुई है उस परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाए। कांग्रेस ने 25-25 लाख रुपए देने की मांग की है। उन्होंने कहा कि कुछ निर्दोष लोगों को फंसाया जा रहा है, यह ठीक नहीं है। नरसंहार की उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply