बिहार

बड़ी सफलता: मोगलपुरा का कुख्यात अपराधी इजहार हथियार के साथ गिरफ्तार, एसएसपी बोलीं-अब अगली बारी टिंकू मियां की

wcnews.xyz
Spread the love

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भागलपुर36 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • ससुराल से कर रहा था बड़ी वारदात की तैयारी, बबरगंज थाने में इजहार पर दर्ज हैं 7 मामले, 2 में था फरार

बबरगंज पुलिस ने कुख्यात अपराधी मो. इजहार को गिरफ्तार किया है। वह हुसैनाबाद के मोगलपुरा का रहने वाला है और स्व. फेकू मियां का बेटा है। इजहार के पास से पुलिस ने एक कट्‌टा और गोली बरामद हुआ है। एसएसपी निताशा गुड़िया ने बताया कि इजहार पर बबरगंज थाने में कुल 7 केस दर्ज है।

इसमें 2 केस में फिलहाल वह फरार था। उन्होंने बताया कि इजहार अपने ससुराल मोगलपुरा में छिपा था। इसकी सूचना मिली तो एएसपी पूरन झा के नेतृत्व में एक टीम का गठन कर छापेमारी कराई गई। टीम ने इजहार को उसके ससुराल से गिरफ्तार कर लिया। वह किसी वारदात को अंजाम देने की तैयारी में था। इजहार का बड़ा भाई इनामी मो. तालिब उर्फ टिंकू मियां को भी पुलिस टीम जल्द गिरफ्तार करेगी। इसके लिए एक टीम लगातार टिंकू की गतिविधियों पर नजर बनाए हुए हैं।

तीनों भाई मिलकर चलाते हैं गैंग, 3 दर्जन बदमाशों का है साथ
टिंकू अपने दोनों भाई इम्तियाज और इजहार के साथ मिलकर मोगलपुरा में गैंग चलाते हैं। इस गैंग ने कई वारदात को अंजाम दिया है। बमबाजी, गोलीबारी की घटनाएं दक्षिणी इलाके में आम हो गई है। इम्तियाज और इजहार तो पहले पकड़ा भी गया है, लेकिन टिंकू पिछले एक दशक से फरार है। वह फरार रहकर भागलपुर में क्राइम करता और करवाता है।

रहमत कुरैशी, इमरान मुर्गा, एजाज, मो. विक्की, मो. बादशाह समेत करीब तीन दर्जन बदमाश इस गिरोह के लिए काम करते हैं। इस गैंग के आतंक को देखते हुए मोगलपुरा के कव्वाली मैदान स्थित सरकारी स्कूल में कई सालों तक पुलिस कैंप बनाया गया था। फेकू मियां की हत्या के बाद उसके तीनों बेटे ज्यादा आक्रामक हो गए हैं।

पिता की हत्या का बदला लेने, इलाके में वर्चस्व कायम करने के लिए लगातार दहशत फैलाते हैं। कोलकाता के मोटियाबूर्ज पुलिस ने टिंकू मियां को गिरफ्तार किया था। हालांकि बाद में कोर्ट ने उसे जमानत दे दिया था। भागलपुर में टिंकू पर 25 हजार का इनाम घोषित है।

कोलकाता से भागलपुर में ऑपरेट करता हैं गैंग
टिंकू मियां और उसके भाई इम्तियाज, इजहार ने अपना एक संगठित गिरोह बना रखा है। गैंग में दो दर्जन से अधिक युवा शामिल हैं। इनका आका टिंकू मियां गिरफ्तारी के भय से कोलकाता में अपना नया ठिकाना बना लिया था। 28-29 अक्टूबर 2014 को अपराधियों ने बबरगंज थाना क्षेत्र के मोगलपुरा-छोटी हसनगंज और दर्जी टोला में ताबड़तोड़ फायरिंग की थी।

घर से बरामद हुआ था हथियारों का जखीरा
कुख्यात और इनामी अपराधी फेकू मियां की 2010 में हत्या के बाद टिंकू मियां खुलेआम बदला लेने का एलान किया था। लेकिन पुलिस ने ऐन मौके पर उसके घर दबिश दी, नतीजा यह हुआ कि टिंकू के घर से हथियारों का जखीरा पुलिस के हाथ लगा था।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply