अन्तराष्ट्रीय

ब्रिटेन की कोरोना से जंग: ब्रिटिश सरकार ने तेजी से वैक्सीनेशन के बाद एक और कदम उठाया, अर्थव्यवस्था खोलने का नया फाॅर्मूला, हफ्ते में दो बार सबका टेस्ट

wcnews.xyz
Spread the love

  • Hindi News
  • International
  • The British Government Took Another Step After Rapid Vaccination, A New Formula To Open The Economy, Test Everyone Twice A Week

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लंदन2 घंटे पहले

6 महीने बाद कटिंग: स्कॉटलैंड में 6 महीने बाद सैलून खुले। रेनफ्रेवशायर में तो कुछ लोगों ने एक साल बाद बाल कटाए।

  • टेस्ट के लिए कोरोना किट दुकान, कम्युनिटी सेंटर, कूरियर के जरिए हर घर तक पहुंचाई जाएंगी

कोरोना संक्रमण से पार पाने के लिए तेज गति से टीकाकरण के बाद ब्रिटेन ने अब एक और बड़ा कदम उठाया है। प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने देश की अर्थव्यवस्था को लॉकडाउन से बाहर निकालने के लिए नए फॉर्मूले के तहत एक योजना का ऐलान किया है। इसमें देश के प्रत्येक नागरिक को हिदायत दी गई है कि वह हर हफ्ते दो बार कोरोना टेस्ट कराए।

अगर यह योजना कामयाब होती है तो ब्रिटेन हर नागरिक का हफ्ते में दो बार टेस्ट कराने वाला दुनिया का पहला देश होगा। ब्रिटिश सरकार का मानना है कि अब लॉकडाउन नहीं लगाया जा सकता, इसलिए बार-बार टेस्ट कराकर संक्रमितों की पहचान करके उन्हें आइसोलेट कर महामारी को फैलने से रोका जा सकता है।

ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैंकॉक ने बताया कि देश का हर नागरिक 9 अप्रैल से सप्ताह में दो बार रैपिड कोरोना टेस्ट फ्री करा सकेगा। लोगों को स्थानीय मेडिसिन शॉप, कम्युनिटी सेंटर और होम डिलिवरी सर्विस के जरिए टेस्ट किट्स उपलब्ध कराई जाएंगी। रिपोर्ट के मुताबिक पीएम जॉनसन ‘कोविड स्टेटस सर्टिफिकेशन’ योजना का ऐलान करने जा रहे हैं।

6.8 करोड़ आबादी वाले ब्रिटेन में कोरोना से बचाव के लिए अब तक वैक्सीन की 3.7 करोड़ डोज लग चुकी हैं। कुल 47% आबादी को कम से कम एक डोज लग चुकी है। 50 लाख लोगों को दूसरी डोज भी लग चुकी है। सरकार का मानना है कि पूरी आबादी का तेजी से टेस्ट कर और स्टेटस सर्टिफिकेशन सिस्टम से महामारी को काबू किया जा सकता है। बता दें कि यूरोप में कोरोना से सबसे ज्यादा मौतें ब्रिटेन में ही हुई हैं। हालांकि, नए केस 85% तक घट चुके हैं।

तैयारी: लॉकडाउन खोलने में ‘कोविड पासपोर्ट’ का इस्तेमाल संभव

  • ब्रिटेन में 17 मई से फिर से अंतरराष्ट्रीय उड़ानें शुरू करने की तैयारी चल रही है। इस बारे में एक ‘ट्रैफिक लाइट’ सिस्टम बनाया गया है, जिसमें कोरोना के हिसाब से दुनिया के दूसरे देशों को रेड, यलो और ग्रीन भागों में बांटा जा रहा है।
  • ग्रीन देशों से आ रहे नागरिकों को ब्रिटेन में आइसोलेट नहीं होना होगा। पर यात्रा शुरू करने से पहले और ब्रिटेन पहुंचने पर उन्हें कोरोना टेस्ट कराना होगा। क्वारेंटाइन, आइसोलेशन रेड और येलो देशों से आने वाले नागरिकों पर लागू होगा।
  • कोविड स्टेटस सर्टिफिकेशन सिस्टम (कोरोना पासपोर्ट) को तैयार किया जाएगा। इसके तहत जिन लोगों के पास ये पासपोर्ट होगा, उन्हें स्पोर्ट्स इवेंट्स, नाइटक्लब, थिएटर और दूसरे समारोह में शामिल होने की इजाजत दी जाएगी।

जापान में चौथी लहर की आशंका: टोक्यो ओलंपिक में अब 109 दिन ही बचे। आशंका है कि कहीं चौथी लहर न आ जाए।

सख्ती: बांग्लादेश 7 दिन कैद में- बांग्लादेश में सोमवार से एक हफ्ते का लॉकडाउन शुरू हाे गया है। वहां सड़कें वीरान रहीं।

राहत: अमेरिका में 190 दिन बाद 40 हजार से कम मरीज

दुनिया में 24 घंटे में 5.26 लाख नए मरीज मिले। इन्हें मिलाकर आंकड़ा 13.2 करोड़ हो गया। 24 घंटे में सबसे ज्यादा 1.03 लाख केस भारत में आए। 60,922 संक्रमितों के साथ फ्रांस दूसरे स्थान पर रहा। सबसे संक्रमित अमेरिका से राहत भरी खबर है। वहां 24 घंटे में 36,983 नए मरीज मिले। वहां 27 सितंबर के बाद पहली बार 40 हजार से कम केस आए। ब्राजील में भी 31,359 केस आए, जो 22 फरवरी के बाद सबसे कम हैं।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply