व्यपार

बैंकों के डिजिटल प्लेटफॉर्म का कारोबार: बैंक ऑफ बड़ौदा के रिटेल लोन का 50% हिस्सा डिजिटल से आएगा, SBI के योनो का वैल्यूएशन 1.60 लाख करोड़

wcnews.xyz
Spread the love

  • Hindi News
  • Business
  • SBI YONO Valuation | Bank Of Baroda Retail Loan 50 Percent Share Will Come From Digital, State Bank Of India Yono Valuation 1.60 Lakh Crores

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई11 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • बैंक ऑफ बड़ौदा पर्सनल लोन की सीमा डिजिटल प्लेटफॉर्म पर 2 लाख रुपए करेगा
  • एमएसएमई का करीबन 25-30 पर्सेंट हिस्सा डिजिटल के जरिए लाने की कोशिश

कोरोना ने डिजिटल प्लेटफॉर्म को काफी महत्वपूर्ण बना दिया है। बैंकिंग सेक्टर अब इसे एक नए तरीके से पेश कर लाभ उठाना चाहता है। देश में तीसरे नंबर के सबसे बड़े बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा वित्त वर्ष 2022 तक रिटेल उधारी का 50% हिस्सा इसी प्लेटफॉर्म से लाना चाहता है। जबकि देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) के योनो का इस समय वैल्यूएशन 1.60 लाख करोड़ रुपए हो गया है।

डिजिटल प्लेटफॉर्म से मिलेगा लोन

बैंक ऑफ बड़ौदा रिटेल उधारी को डिजिटल प्लेटफॉर्म पर लेकर जा रहा है। बैंक की योजना अगले वित्त वर्ष तक रिटेल उधारी का आधा हिस्सा इस प्लेटफॉर्म से लाने की है। यह प्लेटफॉर्म लोन देने से पहले तमाम आंकड़ों के आधार पर ग्राहकों के क्रेडिट रिस्क को मापेगा। पिछले साल नवंबर में इस प्लेटफॉर्म को लांच किया गया था। तब से अब तक 1 हजार करोड़ रुपए की उधारी इसके जरिए दी जा चुकी है।

अभी केवल पर्सनल लोन

बैंक अभी केवल पर्सनल लोन इसके जरिए दे रहा है। इसकी भी सीमा 50 हजार रुपए ही है। वह भी इसके वर्तमान ग्राहकों को ही मिलता है। पर अब इसे बढ़ाकर 2 लाख रुपए किया जाएगा और जो इसके ग्राहक नहीं होंगे, उन्हें भी मिलेगा। बैंक ऑफ बड़ौदा की योजना MSME को उधारी देने के लिए नया प्लेटफॉर्म लांच करने की है। इसमें मुद्रा स्कीम के तहत 10 लाख रुपए तक के लोन भी शामिल होंगे। बैंक को उम्मीद है कि एमएसएमई का 30% तक लोन इसके जरिए दिया जाएगा।

एचडीएफसी बैंक की वेबसाइट के 8 करोड़ यूजर्स

देश में निजी क्षेत्र के सबसे बड़े बैंक HDFC बैंक के कुल ट्रांजेक्शन का करीबन 93% हिस्सा डिजिटल से होता है। इसमें इसकी वेबसाइट, मोबाइल ऐप और अन्य साधन हैं। बैंक की वेबसाइट से इसके करीबन 8 करोड़ यूजर्स आते हैं। बैंक का मोबाइल ऐप और वेबसाइट डिजिटल प्लेटफॉर्म में बहुत ही आसानी से और बेहतरीन भूमिका निभाती हैं।

योनो का वैल्यूएशन 3 लाख करोड़ रुपए होगा

पिछले साल दिसंबर में SBI के योनो का वैल्यूएशन 1.60 लाख करोड़ रुपए आंका गया था। इसके पूर्व चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा था कि आने वाले दिनों में इसका वैल्यूएशन 3 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा होना चाहिए। SBI के पास 49 करोड़ ग्राहक हैं। उसके डिजिटल प्लेटफॉर्म पर रोजाना 4 लाख ट्रांजेक्शन होते हैं। वर्तमान में 55% ट्रांजेक्शन डिजिटल चैनल से ही हो रहा है। इसमें से आधा ट्रांजेक्शन योनो पर होता है।

2017 में लांच किया गया था योनो

योनो ऐप SBI की डिजिटल बैंकिंग ऐप है, जिसे 24 नवंबर 2017 को लॉन्च किया गया था। योनो बैंकिंग, लाइफस्टाइल, बीमा, निवेश और खरीदारी की जरूरतों के लिए वन-स्टॉप सॉल्यूशन है। एसबीआई का इंटीग्रेटेड डिजिटल और लाइफस्टाइल प्लेटफार्म योनो भारत के साथ यूके और मॉरीशस में भी सेवाएं दे रहा है। योनो के अब तक 5.1 करोड़ ऐप डाउनलोड हो चुके हैं। इस प्लेटफॉर्म पर 2.4 करोड़ रजिस्टर्ड यूजर हैं।

योनो की 85 ई-कॉमर्स कंपनियों के साथ साझेदारी है। योनो अपने ग्राहकों को एटीएम से कार्डलेस नकद निकासी, प्री-अप्रूव्ड पर्सनल लोन, योनो कृषि जैसी सेवाएं भी देता है।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply