झारखंड

बेड मिलने में हो रही दिक्कत: इंसीडेंट कमांडर- निजी अस्पतालों में बेड फुल हैं डिटेल व्हाटसएप पर भेजें, लाइनअप हो जाएगा

wcnews.xyz
Spread the love

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रांची2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • रिपोर्टर- घर के लोग पॉजिटिव हैं, प्राइवेट अस्पताल में भर्ती करा दें
  • पॉजिटिव मरीजों को अस्पतालों में बेड मिलने में हो रही दिक्कत की भास्कर ने की पड़ताल
  • समाधान, अस्पतालों में बेड मिलने में हो रही परेशानी तो अपने इलाके के इंसीडेंट कमांडर को कॉल करें

राजधानी में कोरोना संक्रमण की रफ्तार तेज हो रही है। इस असर अस्पतालों में बेड की उपलब्धता पर पड़ रहा है। मरीजों की परेशानी को देखते हुए शहर के निजी-सरकारी अस्पतालों और कोविड सेंटरों के बेड का जिम्मा इंसीडेंट कमांडर को दे दिया गया है। मरीज जिस इलाके में होगा, उस इलाके के इंसीडेंट कमांडर से बात करने पर समस्या दूर हो सकती है। दैनिक भास्कर ने जिला प्रशासन की ओर से प्रतिनियुक्त इंसीडेंट कमांडरों से बातचीत कर रियलिटी चेक की। शहर के नौ इंसीडेंट कमांडर से रिपोर्टर ने खुद संक्रमित का परिजन बन उनसे बेड की स्थिति जानी। सभी ने अपने-अपने स्तर से मरीज की परेशानी पूछी और बेड की उपलब्धता की जानकारी दी।

सरकारी व्यवस्था के तहत 126 बेड खाली, प्राइवेट में शून्य

सोमवार देर शाम तक शहर में सरकारी व्यवस्था के तहत रिम्स, सदर और सीसीएल में कुल मिलाकर 126 बेड खाली बचे थे। जबकि निजी अस्पतालों में एक भी बेड खाली नहीं है। करीब 12 प्रमुख अस्पतालों की पड़ताल में पाया गया कि बेड की वर्तमान संख्या जीरो तक पहुंच चुकी है। सिर्फ चार निजी अस्पताल में चार ही बेड खाली है।

किसी को समस्या हो तो बेझिझक करें संपर्क- डीसी

उपायुक्त छवि रंजन ने सभी हाॅस्पिटल के लिए इलाकेवार इंसीडेंट कमांडर नियुक्त किया है। इंसीडेंंट कमांडर के इलाके में आने वाले सभी कोविड अस्पताल व डेडिकेटेड सेंटर उन्हें अपनी निगरानी में रखनी है। यदि किसी को भी अस्पतालों में बेड की समस्या, इलाज संबंधित समस्या होती है तो वे सीधे अपने एरिया के इंसीडेंट कमांडर से संपर्क कर सकते है।

रिम्स में कोविड मरीजों के लिए 430 बेड की सूचना जारी, पर प्रबंधन ने कहा- हमारे पास 200 बेड हैं

शहर में कोरोना संक्रमण के बाद लोग अस्पतालों का चक्कर लगा रहे है। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग ने लोगों की समस्या दूर करने के लिए सरकारी व गैर सरकारी अस्पतालों में बेड की उपलब्धता की सूची जारी की। इस सूची में रिम्स में कुल बेड 430 दिखाए गए है, जबकि रिम्स के जनसंपर्क अधिकारी डॉ. डीके सिन्हा के अनुसार सोमवार शाम 7 बजे तक करीब 200 बेड ही थे, जिसे बढ़ाने की योजना है। उन्हें सरकारी आंकड़े के अनुसार 430 बेड की जानकारी देने पर उन्हें सूचना नही होने की बात कही। सोमवार तक रिम्स में कुल 204 बेड मरीजों के लिए रखे गए हैं।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply