व्यपार

बंद होगा घाटे का कारोबार: स्मार्टफोन की मैन्युफैक्चरिंग और बिक्री बंद करेगी एलजी, ईवी कंपोनेंट कारोबार पर फोकस करेगी कंपनी

wcnews.xyz
Spread the love

  • Hindi News
  • Business
  • LG Electronics To End Production, Sales Of Its Loss making Smartphone Biz

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नई दिल्ली37 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
एलजी अपना स्मार्टफोन कारोबार बेचने को लेकर वियतनाम के विनग्रुप से बातचीत कर रही थी। लेकिन शर्तों को लेकर यह बातचीत बंद हो गई है। - Dainik Bhaskar

एलजी अपना स्मार्टफोन कारोबार बेचने को लेकर वियतनाम के विनग्रुप से बातचीत कर रही थी। लेकिन शर्तों को लेकर यह बातचीत बंद हो गई है।

  • 31 जुलाई के बाद स्मार्टफोन की मैन्युफैक्चरिंग और बिक्री बंद होगी
  • 6 साल में एलजी के स्मार्टफोन कारोबार में 33 हजार करोड़ रु. का घाटा

एलजी के स्मार्टफोन पसंद करने वालों के लिए बुरी खबर है। दक्षिण कोरियाई कंपनी एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स ने स्मार्टफोन की मैन्युफैक्चरिंग और बिक्री बंद करने का फैसला किया है। उम्मीद जताई जा रही है कि कंपनी 31 जुलाई के बाद स्मार्टफोन की मैन्युफैक्चरिंग और बिक्री बंद कर देगी। घाटे के कारोबार को बंद करने की रणनीति के तहत एलजी अपनी मोबाइल डिविजन को बंद करने जा रही है। यदि ऐसा होता है तो एलजी स्मार्टफोन बाजार से हटने वाली पहली स्मार्टफोन कंपनी बन जाएगी।

4.5 बिलियन डॉलर के घाटे में पहुंचा मोबाइल कारोबार

एलजी की ओर से जारी बयान के मुताबिक, कंपनी की मोबाइल डिविजन बीते 6 सालों में 4.5 बिलियन डॉलर करीब 33 हजार करोड़ रुपए के घाटे में पहुंच चुकी है। स्मार्टफोन मार्केट में इस समय जमकर कंपटीशन हो रहा है। इस कारण एलजी को इस सेगमेंट से बाहर निकलना पड़ रहा है। कंपनी का कहना है कि वह अब इलेक्ट्रिक व्हीकल कंपोनेंट, कनेक्टिड डिवाइसेज और स्मार्ट होम्स पर फोकस करेगी।

2013 में दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी स्मार्टफोन मैन्युफैक्चरर थी एलजी

अपने सुनहरे दौर में एलजी सेल फोन इनोवेशन और अल्ट्रा-वाइड एंगल कैमरों के लिए जानी जाती थी। 2013 में कंपनी सैमसंग और ऐपल के बाद दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी थी। लेकिन बाद में एलजी के फ्लैगशिप मॉडल सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर की समस्या से जूझने लगे। इसके अलावा धीमे सॉफ्टवेयर अपडेट भी एलजी के लिए प्रतिकूल साबित हुआ। चीनी कंपनियों की तुलना में विशेषज्ञों की कमी को लेकर एनालिस्टों ने भी एलजी की आलोचना की।

अब ग्लोबल मार्केट में केवल 2% हिस्सेदारी

काउंटरपॉइंट के डाटा के मुताबिक, इस समय ग्लोबल स्मार्टफोन मार्केट में एलजी की केवल 2% हिस्सेदारी है। कंपनी ने पिछले साल केवल 23 मिलियन फोन्स की शिपमेंट की है। जबकि इसकी प्रतिद्वंदी कंपनी सैमसंग ने 256 मिलियन फोन्स की शिपमेंट की है। नॉर्थ अमेरिका में इस समय एलजी की 10% हिस्सेदारी है। यहां ऐपल और सैमसंग के बाद एलजी तीसरी सबसे बड़ी कंपनी है। नॉर्थ अमेरिकी की तरह लातिन अमेरिका में भी एलजी की बड़ी हिस्सेदारी है। लातिन अमेरिका में एलजी पांचवें पायदान पर है।

एलजी में मोबाइल डिविजन सबसे छोटी

एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स का कुल कारोबार पांच डिविजन में बंटा हुआ है। इसमें मोबाइल डिविजन सबसे छोटी है। एलजी के कुल रेवेन्यू में मोबाइल डिविजन का 7% योगदान है। दक्षिण कोरिया में मोबाइल डिविजन के कर्मचारियों को एलजी इलेक्ट्रॉनिक्स कारोबार में शिफ्ट किया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक, एलजी अपना स्मार्टफोन कारोबार बेचने को लेकर वियतनाम के विनग्रुप से बातचीत कर रही थी। लेकिन शर्तों को लेकर यह बातचीत बंद हो गई है।

एलजी के फैसले के चीनी कंपनियों को फायदा मिलेगा

केप इन्वेस्टमेंट एंड सिक्युरिटीज के एनालिस्ट पार्क सुंग-सून का कहना है कि एलजी का स्मार्टफोन कारोबार बंद होने से साउथ अमेरिका में लो और मिड एंड सेगमेंट में सैमसंग और ओप्पो, वीवी, शाओमी जैसी चीनी कंपनियों को लाभ मिलेगा। सून का कहना है कि नोकिया, HTC और ब्लैकबेरी जैसे ब्रांड भी अपनी टॉप पॉजिशन से नीचे आ चुके हैं। लेकिन यह अभी तक बाजार से पूरी तरह से गायब नहीं हुए हैं।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply