व्यपार

टेलीकॉम सेक्टर में ग्रोथ का हाल: कोरोना की दूसरी लहर से एयरटेल, वोडाफोन आइडिया की कमाई घटने का अनुमान, जानिए किन शेयरों से मिल सकता है अच्छा रिटर्न

wcnews.xyz
Spread the love

  • Hindi News
  • Business
  • Bharti Airtel Vs Vodafone Idea Q4 Results 2021 And Telecom Sector Investment Tips For Stock Market Investors

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुंबई31 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कोरोना महामारी की दूसरी लहर के बीच वित्त वर्ष 2020-21 की चौथी तिमाही के नतीजे आने वाले हैं। इसमें टेलीकॉम सेक्टर फोकस में रहेगा, खासकर भारती एयरटेल। ICICI डायरेक्ट रिसर्च के मुताबिक इस तिमाही में भारती एयरटेल के साथ बड़ी संख्या में नए ग्राहक जुड़ेंगे।

नए ग्राहकों की बड़ी संख्या एयरटेल के साथ जुड़ सकते हैं
रिपोर्ट के मुताबिक चौथी तिमाही में भारती एयरटेल के साथ करीब 90 लाख नए ग्राहक जुड़ सकते हैं, जबकि वोडाफोन आइडिया के ग्राहकों की संख्या करीब 20 लाख घट सकती है। इस दौरान इंटरकनेक्शन यूजर्स चार्जेस (IUC) का भी प्रभाव रहेगा। इससे कंपनियों का आर्पू यानी प्रति ग्राहक कमाई प्रभावित होगी।

टेलीकॉम कंपनियों की प्रति ग्राहक कमाई घटने का अनुमान
संभव है कि एयरटेल की कमाई करीब 6.5% घटकर 155 रुपए हो जाए, जो पिछली तिमाही में 166 रुपए प्रति ग्राहक थी। वोडाफोन आइडिया का आर्पू भी करीब 9% घटकर 110 रुपए हो सकती है। यह पिछली तिमाही में 121 रुपए थी। कंपनी का रेवेन्यू 8.8% घटकर 9940 करोड़ रुपए रह सकता है, जबकि एयरटेल का का रेवेन्य 3.1% गिरकर 14,326 करोड़ रुपए होने का अनुमान है। ब्रोकरेज हाउस के मुताबिक निवेशकों को वोडाफोन आइडिया के फंड जुटाने की योजना और आर्पू पर कमेंट्री को ध्यान देना चाहिए।

कमजोर रह सकते है तिमाही नतीजे
इंडस टावर (पहले इसका नाम भारती इंफ्राटेल था) के नतीजे भी उम्मीद से कम रहेंगे। क्योंकि कंपनी का रेंट से आने वाला पिछली तिमाही की तुलना में रेवेन्यू 3% गिरकर 4180 करोड़ रुपए हो सकता है। कंपनी का कुल मार्जिन भी 200 बेसिस पॉइंट घटकर 50.7% रह सकता है। ऐसे में निवेशकों को कंपनी द्वारा आगे की योजना और ग्रोथ पर तैयारी पर फोकस करना चाहिए।

निवेशकों की नजर भारती एयरटेल के नॉन-वायरलेस कारोबार पर होगी
भारती एयरटेल के लिए आर्पू ट्रेजेक्टरी और नॉन-वायरलेस कारोबार पर फोकस रखना चाहिए। ICICI डायरेक्ट के मुताबिक प्रोडक्ट सेगमेंट में सुधार के चलते स्टरलाइट टेक पर फोकस किया जा सकता है। कंपनी टॉप लाइन ग्रोथ सालाना आधार पर 25.1% बढ़कर 1452 करोड़ रुपए हो सकता है। कंसोलिडेटेड एबीटा भी 21.6% बढ़ने का अनुमान है। ऐसे में निवेशकों का फोकस मैनेजमेंट के कमेंट्री पर रहना चाहिए।

यूरोप में कोरोना के प्रकोप से टाटा कम्यूनिकेशन पर पड़ रहा बुरा असर
यूरोप में कोरोना के बढ़ते प्रकोप से टाटा कम्यूनिकेशन का कारोबार प्रभावित हुआ है। वॉइस बिजनेस के लिए रेवेन्यू पिछले साल की तुलना में 16.5% घटकर 671 करोड़ रह सकता है। डाटा सेगमेंट का मार्जिन पिछली तिमाही की तुलना में 27% घटने का अनुमान है। हालांकि यह सालाना आधार पर 400 बेसिस पॉइंट ज्यादा रहेगा। निवेशकों के लिए ग्रोथ आउटलुक कंमेंट्री काफी अहम होगा।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply