बिहार

जिंदा कारतूस बरामद: अवैध संबंध के शक में की गई थी बेउर के दूध कारोबारी के बेटे रंजीत की हत्या

wcnews.xyz
Spread the love

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फुलवारीशरीफएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
  • साक्ष्य मिटाने के आरोप में मुख्य आरोपी की पत्नी व भाई समेत चार गिरफ्तार

बेउर में अवैध संबंध के शक में दूध कारोबारी रामदयाल राय के इकलौते पुत्र रंजीत कुमार उर्फ पप्पू की हत्या हुई थी। इस मामले में साक्ष्य मिटाने के आरोप में मुख्य आरोपी चंदन कुमार की पत्नी, भाई और दो बहनोई को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल पिस्टल, कारतूस और बाइक को बरामद किया है। चंदन को शक था कि उसकी पत्नी कुमारी सुप्रिया का गांव के ही युवक गौतम से संबंध है। युवक उसके घर भी आया-जाया करता था। उसके घर आने-जाने के क्रम में चंदन का पड़ोसी रंजीत उर्फ पप्पू भी सहयोग किया करता था। दोनों के घर की छत सटी है।

चंदन को इस बात पर शक और मजबूत हो गया कि रंजीत को देर रात अपने ही घर में देखा चुका था। गौतम कई बार चंदन से उसकी पत्नी के बारे मजाक करता था। इसको लेकर दोनों की हत्या करने का प्लान बना लिया था। हत्या करने से दस दिन पहले पिस्टल खरीदने के लिए परिजन से झगड़ा किया था। परिजन आजिज आकर उसे पिस्टल खरीदने के लिए 50 हजार रुपए दिए थे।

पुलिस ने साक्ष्य मिटाने के आरोप में चंदन की पत्नी कुमारी सुप्रिया, भाई रोहित कुमार, बहनोई सोनु और फुफेरा बहनोई रंजीत कुमार काे गिरफ्तार किया है। पुलिस ने मुख्य आरोपी के घर से हत्या में इस्तेमाल पिस्टल और एक जिंदा कारतूस बरामद किया है। उसकी पत्नी ने तीन जिंदा कारतूस को शौचालय में फेंक दिया। वहीं रामकृष्णानगर के शाहपुर गांव से फुफेरे बहनोई के घर से बाइक बरामद की है। इस पहले लाइनर संजीत कुमार की गिरफ्तारी हो चुकी थी।

क्या था मामला
30 मार्च को बेउर के नथ्थुपुर गांव निवासी दूध कारोबारी रामदयाल राय के इकलौते पुत्र को गांव की बोरिंग के पास तीन गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। थानेदार मनीष कुमार ने बताया कि साक्ष्य को मिटाने के आरोप में उक्त चारों की गिरफ्तारी हुई है। पूछताछ के बाद हत्या के पीछे अवैध संबंध के शक की बात सामने आई है।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply