अन्तराष्ट्रीय

जापान में 10 साल बाद सूनामी: मियागी में 7.2 तीव्रता के भूकंप के बाद तट से टकराई 1 मीटर ऊंची लहरें, परमाणु रिएक्टर को पहुंच सकता है नुकसान

wcnews.xyz
Spread the love

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
जापान के मियागी में आए भूकंप से वहां की सड़कों में बड़ी-बड़ी दरारें पड़ गईं। स्थानीय प्रशासन ने लोगों से ऊंचाई वाले इलाकों में जाने को कहा है। - Dainik Bhaskar

जापान के मियागी में आए भूकंप से वहां की सड़कों में बड़ी-बड़ी दरारें पड़ गईं। स्थानीय प्रशासन ने लोगों से ऊंचाई वाले इलाकों में जाने को कहा है।

जापान में 10 साल बाद फिर सूनामी ने दस्तक दी है। समुद्री तट से सटे मियागी प्रांत में शनिवार को 7.2 तीव्रता (मैग्नीट्यूड) के भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। इसके बाद करीब एक मीटर (3.2 फीट) ऊंची लहरें समुद्री तट से टकराईं हैं।

मियागी में जापान का एक परमाणु पावर प्लांट भी है। सूनामी से उसे नुकसान पहुंचने की संभावना भी जताई जा रही है। हालांकि भूकंप के बाद स्थानीय लोगों ने प्लांट सुरक्षित होने की बात कही थी, लेकिन सूनामी के तट से टकराने के बाद प्लांट की कोई जानकारी सामने नहीं आई है।

इस्टर्न जापान रेलवे कंपनी ने बयान जारी किया है। उन्होंने कहा कि भूकंप के बाद सतर्कता बरतते हुए टोहोकू शिंकानसेन बुलेट ट्रेन लाइन को फिलहाल सस्पेंड कर दिया गया है।

इससे पहले जापान में 11 मार्च 2011 को सूनामी आई थी, जिसने बड़ी तबाही मचाई थी। भूकंप का केंद्र उत्तर पूर्वी तट के पास 60 किलोमीटर गहराई में बताया जा रहा है। स्थानीय प्रशासन ने लोगों से ऊंची जगहों पर जाने के लिए कहा है। आसपास बने करीब 200 घरों की बिजली गुल है।

जापान के उत्तर-पूर्वी तट के पास भूकंप के केंद्र को दिखाता हुआ मैप।

जापान के उत्तर-पूर्वी तट के पास भूकंप के केंद्र को दिखाता हुआ मैप।

भूकंप से मियागी के कई इलाकों में नुकसान पहुंचा है। पिछले महीने भी जापान के पूर्वी समुद्री तट पर 7.1 तीव्रता का भूकंप आया था। उस समय सूनामी की चेतावनी जारी नहीं की गई थी।

भूकंप की वजह से फाइट रुकी

एक यूजर ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा है कि भूकंप की वजह से जापान में चल रही फाइट को रोकना पड़ा।

भूकंप से मियामी के न्यूक्लियर प्लांट को भी नुकसान पहुंचने का खतरा है।

भूकंप से मियामी के न्यूक्लियर प्लांट को भी नुकसान पहुंचने का खतरा है।

5 मार्च को न्यूजीलैंड में आया था 8.1 तीव्रता का भूकंप
इससे पहले 5 मार्च को न्यूजीलैंड के उत्तरी-पूर्वी तट पर 8.1 तीव्रता का भूकंप आया। इसके बाद इस इलाके में सूनामी का अलर्ट जारी किया गया था। भूकंप उत्तरी आइसलैंड के पास केरमाडेक द्वीप पर आया। जारी चेतावनी में कहा गया था कि तटवर्ती इलाकों के पास रहने वाले लोगों को तुरंत ऊंचाई वाले मैदानों में चले जाना चाहिए।

सूनामी क्या है?
समुद्र के भीतर जब तेज हलचल होती है तो इससे बहुत ऊंची लहरें उठने लगती हैं। ये लहरें जबर्दस्त आवेग के साथ आगे बढ़ती हैं। इन्हीं ऊंची लहरों को सूनामी कहते हैं। दरअसल सूनामी जापानी शब्द है जो सू और नामी से मिल कर बना है सू का अर्थ है समुद्र तट और नामी का अर्थ है लहरें।

खबरें और भी हैं…



Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply