भारत

छत्तीसगढ़ में कोरोना: बेमेतरा, राजनांदगांव और बालोद में भी 10 अप्रैल से 9 दिन का लॉकडाउन, कोरबा में दोपहर 3 बजे तक ही खुलेंगी दुकानें, रायपुर की शादी-अन्त्येष्टि में 10 लोग ही मंजूर

wcnews.xyz
Spread the love

  • Hindi News
  • Local
  • Chhattisgarh
  • Raipur
  • Raipur Bhilai (Chhattisgarh) Coronavirus Cases; Lockdown Update | Chhattisgarh Corona Cases District Wise Today News; Korba Durg Bilaspur Rajnandgaon

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रायपुर6 घंटे पहले

छत्तीसगढ़ में रायपुर और दुर्ग के बाद अब बेमेतरा, राजनांदगांव और बालोद जिले में भी 9 दिन का टोटल लॉकडाउन लगा दिया गया है। कोरोना से बिगड़ते हुए हालात को देखते हुए कलेक्टर ने 10 अप्रैल की शाम छह बजे से लेकर 19 अप्रैल तक लॉकडाउन का निर्णय लिया। वहीं, कोरबा जिले में दुकानों के खुले रहने का समय घटा दिया गया है। नये आदेश के मुताबिक सुबह 6 बजे से दोपहर 3 बजे तक ही दुकानें खुली रह सकेंगी। रायपुर कलेक्टर ने लॉकडाउन की शर्तों में परिवर्तन कर दिया है। अब विवाह और अन्त्येष्टि में 10 से अधिक लोगों को अनुमति नहीं दी जाएगी। पहले ऐसे आयोजनों में 50 लोगों को शामिल होने की अनुमति थी। शादी को वर अथवा वधु के घर में संपन्न कराने को कहा गया है। यानी इसके लिये मैरेज हॉल या होटल-धर्मशाला से आयोजन की अनुमति नहीं मिलेगी।

छत्तीसगढ़ में पिछले 24 घंटे में कोरोना के रिकॉर्ड 10,310 नए केस मिले हैं। 53 लोगों की मौत हुई है। इनमें से 24 लोगों को कोरोना के अलावा दूसरी बीमारियां भी थीं, इसलिए प्रशासन 29 मौतों का कारण ही कोरोना को मान रहा है। बुधवार को 42,289 कोविड टेस्ट किए गए थे। नए मरीजों के मिलने के बाद छत्तीसगढ़ में एक्टिव मरीजों की संख्या 58,883 हो गई है। उधर, रायपुर में लॉकडाउन से पहले ही जरूरी सामानों की कालाबाजारी शुरू हो गई है।

9 टीमों की दुकानदारों पर नजर, रेट ज्यादा मिलने पर होगा एक्शन
संक्रमण की बढ़ती रफ्तार की वजह से दुर्ग जिले में 6 से 14 अप्रैल तक लॉकडाउन लगा हुआ है। रायपुर में भी शुक्रवार शाम 6 बजे से 10 दिनों के लिए टोटल लॉकडाउन हो जाएगा। इससे पहले ही दुकानदारों ने अचानक जरूरी सामान की कीमतें बढ़ा दी हैं। रायपुर कलेक्टर डॉक्टर एस. भारतीदासन ने कालाबाजारी रोकने अधिकारियों की 9 टीम बनाई हैं। इसमें शामिल अधिकारियों को बाजारों और दुकानों पर नजर रखने को कहा गया है। यदि किसी भी दुकान में सामान की कीमत ज्यादा मिलती है तो टीम दुकानदारों पर कार्रवाई करेगी। कलेक्टर ने बताया कि टीम शुक्रवार शाम तक जांच कर कार्रवाई करेंगी।

कोरोना अपडेट

  • रायपुर कलेक्टर ने शहर में रेल और हवाई जहाज से आने-जाने वाले यात्रियों के लिए ई-पास की अनिवार्यता के भ्रम को दूर करने की कोशिश की है। नई गाइडलाइन में स्पष्ट किया गया है कि ऐसे लोगों को ई-पास की जरूरत नहीं होगी। उनका टिकट ही पास माना जाएगा।
  • रायपुर जिले में प्रस्तावित लाॅकडाउन से पहले कुछ इलाकों को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। नए जोन में रायपुर शहर का चंगोराभाठा, मेट्रो ग्रीन्स सोसाइटी, विरासत अपार्टमेंट, बिरगांव में वार्ड 28 और 33 व अभनपुर का एक गांव परसदा शामिल है। प्रशासन ने इन इलाकों की बाड़ाबंदी कर रहवासियों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगा दिया है।
  • रायपुर में लॉकडाउन के दौरान जरूरी होने पर दूसरे जिलों अथवा प्रदेश से बाहर जाने के लिए ई-पास की जरूरत होगी। इसके लिए आज जिला प्रशासन की वेबसाइट पर एक लिंक जारी की जाएगी। इसके जरिए आवेदन किया जा सकेगा।
  • रायपुर जिला प्रशासन ने पांच सरकारी भवनों में कोरोना मरीजों के लिए आइसोलेशन सेंटर शुरू किया है। आयुष विश्वविद्यालय, होटल मैनेजमेंट संस्थान, वर्किंग वीमन हॉस्टल और प्रयास के बालक-बालिका छात्रावासों के अधिग्रहण के बाद 1800 बेड की सुविधा बनाई गई है।
  • प्रशासन ने कोरोना ड्यूटी पर नहीं आने वाले कर्मचारियों पर सख्ती शुरू की है। 54 शिक्षकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इनमें से 38 महिलाएं हैं। इन सबसे तीन दिनों में जवाब मांगा गया है।

4 महीने में एक्टिव केस 58 हजार के पार पहुंचे, सबसे ज्यादा दुर्ग में
प्रदेश में अब सक्रिय मरीजों की दर 15 प्रतिशत के पार हो गई है। सितम्बर 2020 में कोरोना की पहली लहर पीक पर थी, तब यहां एक्टिव मरीजों की संख्या 36 हजार थी। अभी प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या 58 हजार से अधिक है। यह अब तक सर्वाधिक आंकड़ा है। इस साल की शुरुआत में प्रदेश में 11 हजार एक्टिव मरीज थे। केवल 4 महीने में ही इनकी संख्या बढ़कर 58 हजार के पार पहुंच गई। प्रदेश में सबसे ज्यादा एक्टिव मरीज फिलहाल दुर्ग जिले में हैं। वहां इनकी संख्या 15 हजार के पार है। प्रदेश में 3 जिलों सुकमा, नारायणपुर और बीजापुर को छोड़कर 25 जिलों में एक्टिव मरीजों की संख्या 100 से अधिक है।

लॉकडाउन की घोषणा के बाद रायपुर में बाजारों का यह हाल है। लोगों की भारी भीड़ दुकानों में उमड़ पड़ी है। इससे संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ गया है।

लॉकडाउन की घोषणा के बाद रायपुर में बाजारों का यह हाल है। लोगों की भारी भीड़ दुकानों में उमड़ पड़ी है। इससे संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ गया है।

राजधानी में 3302 मरीज मिले, 27 की मौत
रायपुर में पिछले 24 घंटों में 3,302 नए संक्रमित मिले हैं। 27 लोगों की मौत हुई। अब तक शहर में 1028 जान जा चुकी है। अकेले रायपुर शहर में ही 14,991 एक्टिव मरीज हैं। बुधवार की दोपहर जिला प्रशासन ने लॉकडाउन का एलान कर दिया, इसके बाद शहर के मालवीय रोड, गोल बाजार इलाके में भीड़ देखने को मिली। हर चौराहे पर जाम के हालात थे।

इन शहरों में कोरोना केस ज्यादा
दुर्ग शहर में 1664 नए मरीज मिलने के बाद यहां एक्टिव मरीजों की संख्या 15,297 हो गई है। बुधवार को यहां 6 लोगों की मौत हुई। राजनांदगांव में 873 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं, 1 शख्स की मौत हुई। राजनांदगांव में 5,423 कोरोना के एक्टिव मरीज हैं। बिलासपुर शहर में 600 नए संक्रमित मिलने के बाद इस शहर में एक्टिव मरीजों की संख्या 2,786 हो गई है। बुधवार की स्थिति में यहां 7 लोगों की जान गई। रायगढ़ में 153 नए संक्रमित मिले, 2 लोगों की जान गई। बस्तर में 68 नए कोरोना संक्रमित मिले। बस्तर संभाग में सबसे ज्यादा 139 मरीज कांकेर से सामने आए।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply