बिहार

गमछे से गला दबाकर पत्नी को मार डाला: गूंगी पत्नी को पीट-पीटकर अधमरा किया, फिर कमरे में लगा दी आग; लोगों ने बुझाई, पुलिस ने किया गिरफ्तार

wcnews.xyz
Spread the love

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

छपरा2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar

फाइल फोटो।

  • सोनारपट्टी साहेबगंज मोहल्ला में हुई हत्या की वारदात
  • आरोपी की मां ने भी बेटे के खिलाफ दिया बयान

छपरा के सोनारपट्टी साहेबगंज में एक सनकी पति ने अपनी गूंगी पत्नी को पीट-पीटकर लहुलुहान कर दिया। इसके बाद गमछे से गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। गूंगी होने के कारण वह चीख-चिल्ला भी नहीं सकी और उसकी सांसें टूट गई। इससे भी मन नहीं भरा तो उसने कमरे में आग भी लगा दी। आरोपी पति को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। मृतक की पहचान नगर थाना क्षेत्र के सोनारपट्टी साहेबगंज मोहल्ला निवासी अनिल कुमार की 30 वर्षीय पत्नी सोनी देवी के रूप में की गई है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। नगर थानाध्यक्ष विमल कुमार ने बताया कि इस मामले में मृतका की मां ने नगर थाना क्षेत्र के साहेबगंज मोहल्ला निवासी ध्रुप प्रसाद की पत्नी सुशीला देवी ने नगर थाना में बयान देकर अपने दामाद अनिल कुमार को नामजद अभियुक्त बनाया है। वहीं हत्यारे पति को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

हत्या कर कमरे में लगा दी आग

सोनी देवी गूंगी थी। अनिल कुमार उसे अक्सर मारता-पीटता था। मंगलवार को सोनी को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया। गूंगी होने के कारण उसकी आवाज कमरे से बाहर नहीं निकल सकी। हत्या के बाद पति ने कमरे में आग लगा दी। निचले तल्ले पर रह रहे लोगों ने जब कमरे में आग लगाते देखा तो शोर मचा कर आग बुझाई। इसके बाद घर के बाहर लोगों की भीड़ जुट गई लेकिन अनिल घर नहीं खोल रहा था। लोगों ने जब कमरे में झांका तो देखा कि बिस्तर पर सोनी की खून से लथपथ लाश पड़ी थी। इसके बाद लोग दरवाजा तोड़ने लगे तो अनिल हथियार दिखाकर लोगों को भी जान से मारने की धमकी देने लगा।
मां ने मायके वालों को बुलाने के लिए भेजा
अनिल ने जब दरवाजा नहीं खोला तो उसकी मां ने अपने छोटे बेटे शंकर को सोनी के मायके भेजकर उन्हें बुलवाया। मृतक के परिजन जब वहां पहुंचे तो पुलिस को इस बात की जानकारी दी। इसके बाद नगर थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में ले लिया। फिलहाल शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। दरवाजा खुलने के बाद सबकी रूह जैसे कांप गई। बिस्तर पर खून पसरा हुआ था। सोनी की लाश गमछे से लिपटी हुई थी।

8 धुर जमीन था विवाद का जड़

स्थानीय लोगों ने बताया कि अनिल की अपने परिवार के साथ पड़ोसियों से भी नहीं बनती थी। अनिल के इस व्यवहार से घरवाले काफी परेशान रहते थे। इधर, उसकी मां ने अनिल को छोड़ दूसरे बेटे को 8 धुर जमीन लिख दी। इसमें उसकी पत्नी सोनी भी गवाह बनी थी, जिसके कारण वह काफी नाराज था। इसी बात को लेकर उसने सोनी की जमकर पिटाई की थी।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply