खेल-कूद

कोहली ने फिर किया राहुल का सपोर्ट: आलोचनाओं को फालतू बताते हुए शायराना अंदाज में कहा- कुछ तो लोग कहेंगे, लोगों का काम है कहना

wcnews.xyz
Spread the love

  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • India Vs England 1st ODI: Virat Kohli Press Conference Update | Team India Captain Speaks On KL Rahul Shikhar Dhawan Performace

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पुणे7 घंटे पहले

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने लगातार फ्लॉप हो रहे लोकेश राहुल का एक बार फिर सपोर्ट किया है। उन्होंने शायराना अंदाज में कहा, ‘कुछ तो लोग कहेंगे, लोगों का काम है कहना, छोड़ो बेकार की बातें, कहीं बीत न जाए रैना।’ कोहली ने कहा कि लोगों का अपना नजरिया है। उन्हें आजकल आलोचना सुनने में काफी मजा आता है।

इंडिया और इंग्लैंड के बीच 3 वनडे सीरीज का पहला मैच मंगलवार को खेला जाएगा। इससे एक दिन पहले सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कोहली ने कहा, ‘कोई खिलाड़ी अगर नीचे गिर रहा होता है, तो लोगों को उसे और नीचे गिराने में मजा आता है। यह सब मेरे लिए फालतू बातें हैं। हम अपने खिलाड़ियों को सपोर्ट करते रहेंगे और कोशिश करेंगे कि वे मानसिक तौर पर स्वस्थ रहें।’

कोहली ने टी-20 सीरीज के दौरान राहुल का सपोर्ट किया
इससे पहले इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज के दौरान राहुल ने 4 मैचों में 15 रन बनाए थे। सीरीज में वे 2 बार जीरो पर आउट हुए। इसके बाद भी कोहली ने राहुल का सपोर्ट किया था। कोहली ने राहुल को चैम्पियन प्लेयर बताते हुए कहा था कि वे रोहित शर्मा के साथ ओपनिंग करते रहेंगे।

अंपायर्स कॉल को लेकर कोहली ने जताई नाराजगी
कोहली ने डिसीजन रिव्यू सिस्टम (DRS) में अंपायर्स कॉल को लेकर भी नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि इससे काफी कन्फ्यूजन हो रहा है। LBW डिसीजन इस पर निर्भर करता है कि बॉल स्टंप पर लग रही है या नहीं, भले ही वह छू कर निकल रही हो। पर अंपायर्स कॉल में इसे नॉटआउट दिया जाता है।

LBW में अंपायर्स कॉल का मौजूदा नियम क्या है?
LBW के मौजूदा नियम के मुताबिक, अगर अंपायर किसी को नॉटआउट देता है और उस फैसले पर DRS लिया जाता है, तो अंपायर के फैसले को गलत साबित करने के लिए स्टंप पर गेंद का कम से कम 50% हिस्सा लगना चाहिए। अगर गेंद इससे कम लग रही है, तो ऑन फील्ड अंपायर का पहले दिया गया फैसला ही मान्य होता है।

अंपायर का फैसला अंतिम फैसला होना चाहिए
कोहली ने कहा कि मैं उस वक्त से क्रिकेट खेल रहा हूं, जब DRS नहीं था। उस वक्त अंपायर का निर्णय ही सर्वोपरि होता था। चाहे बैट्समैन को पसंद आए या नहीं, अंपायर का फैसला ही आखिरी होता था। अगर बैट्समैन नॉटआउट है और उसे आउट दिया जाता था, तो भी कोई उसे चैलेंज नहीं कर सकता था।

”बोल्ड होने पर यह नहीं देखते गेंद 50% लगी या 10%”
कोहली ने कहा कि अंपायर्स कॉल काफी विवादित है। अगर कोई बैट्समैन बोल्ड होता है, तो आप यह नहीं देखते कि बॉल स्टंप पर 50% लगी है या 10%। अगर बॉल स्टंप्स पर लग रही है, तो आउट होना चाहिए, भले ही किसी को पसंद आए या न आए। मुझे नहीं लगता इस पर कोई बहस होनी चाहिए।

”धवन और रोहित ही करेंगे ओपनिंग”
भारतीय कप्तान कोहली ने कहा कि पहले वनडे में धवन और रोहित ही ओपनिंग करेंगे। उन्होंने कहा कि जब बात वनडे की होती है तो हमारे मन में धवन और रोहित को लेकर कोई शक नहीं है। वे कुछ सालों में हमारे लिए शानदार रहे हैं। कोहली ने हाल ही में हुई टी-20 सीरीज में 4 ओपनिंग जोड़ी आजमाई थी।

पहले टी-20 में रोहित-धवन, दूसरे में रोहित-ईशान, तीसरे और चौथे में रोहित-राहुल और पांचवें मैच में रोहित-कोहली ओपनर्स के तौर पर उतरे थे। धवन ने जून, 2019 के बाद से 9 वनडे खेले हैं। इसकी 7 पारियों में उन्होंने 2, 36, 74, 96, 74, 30 और 16 रन बनाए हैं। इस दौरान धवन का औसत 46.85 का रहा है।

”ओपनिंग की ओर ध्यान दे रहा, ताकि सूर्या को मौका मिले”
कोहली ने कहा कि वे रोहित के साथ ओपनिंग की गारंटी नहीं दे रहे। उन्होंने कहा कि वे सभी ऑप्शन खुले रखना चाहते हैं, इसलिए IPL में ओपनिंग करेंगे, ताकि वह खुद को परख सकें। कोहली ने कहा कि मैंने तीसरे और चौथे नंबर पर बैटिंग की है। अब मैं अपने इस नए रोल को आजमाना चाहता हूं। मैंने पहले भी टी-20 में ओपनिंग की है और उसमें सफल रहा था।

कोहली ने कहा कि वे सूर्यकुमार यादव के लिए नंबर-3 का स्लॉट खाली करना चाहते हैं। सूर्या अगर आगे भी ऐसे ही शानदार खेलते रहे, तो मुझे टीम मैनेजमेंट जिस पोजीशन पर कहेगी, मैं वहां बैटिंग करूंगा।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply