झारखंड

कोरोना के कारण बदली व्यवस्था: RIMS में अगले आदेश तक सामान्य मरीज नहीं होंगे एडमिट; सर्जरी पर भी रोक, अब केवल इमरजेंसी में ही इलाज

wcnews.xyz
Spread the love

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रांची18 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
RIMS में रांची समेत राज्य के विभिन्न जिलों से मरीज इलाज कराने पहुंचते हैं।  (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar

RIMS में रांची समेत राज्य के विभिन्न जिलों से मरीज इलाज कराने पहुंचते हैं। (फाइल फोटो)

RIMS में सामान्य मरीजों की भर्ती और सर्जरी पर अगले आदेश तक रोक लगा दी गई है। कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते मामले को देखते हुए RIMS प्रबंधन की तरफ से यह निर्णय लिया गया है। इससे पहले बुधवार को क्लीनिकल विभागाध्यक्षों और कोविड टास्क फोर्स के सदस्यों के साथ बैठक हुई। इसमें कई बिंदुओं पर विस्तार से चर्चा हुई।

RIMS के प्रवक्ता डॉ. डीके सिन्हा ने बताया कि हॉस्पिटल का तीन हिस्सा मैन पावर कोविड के इलाज में लगा है। जितने भी वार्ड हैं हर जगह कोविड वार्ड बनाए जा रहे हैं। ऐसे में मरीजों को भर्ती करना खतरे से खाली नहीं होगा। इसी के मद्देनजर यह निर्णय लिया गया है।

हर रोज 1000 से ज्यादा इन हाउस मरीज का होता है इलाज
RIMS में लगभग एक दर्जन से ज्यादा वार्ड हैं, जहां हर 1000 से ज्यादा मरीजों का इलाज होता है। डॉ. डीके सिन्हा ने बताया कि सबसे ज्यादा मरीज कार्डियोलॉजी विभाग में एडमिट होते हैं लेकिन अब वहां भी रोक लगा दी गई है। उन्होंने बताया कि विभिन्न विभागों में गंभीर मरीजों का इलाज जारी रहेगा। अगर किसी को भी गंभीर बीमारी है या सर्जरी की इमरजेंसी होती तब ऐसी परिस्थिति में रिम्स में उन्हें भर्ती किया जाएगा।

रांची समेत पूरे राज्य से मरीज आते हैं इलाज कराने

RIMS में रांची समेत राज्य के विभिन्न जिलों से मरीज इलाज कराने पहुंचते हैं। ना सिर्फ झारखंड के बल्कि इसके आसपास के पड़ोसी राज्यों के लोग भी बेहतर इलाज और उपचार की उम्मीद लिए RIMS आते हैं। प्रबंधन के इस फैसले से ऐसे मरीजों की परेशानी बढ़ जाएगी।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply