बिहार

कोरोना का खतरा लेकर आ रही ट्रेन: सेंटर पर जांच के लिए मारामारी के हालात, 2 कर्मचारियों के सहारे से स्टेशन पर हो रही जांच

wcnews.xyz
Spread the love

  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Bihar News; Trains Bringing Danger Of Corona; Covid Test Is Being Done At The Station With The Help Of Two Employees

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पटना13 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर। - Dainik Bhaskar

प्रतीकात्मक तस्वीर।

  • विशेष ट्रेनों से आने वालों ने बढ़ाई प्रशासन की मुश्किलें, स्वास्थ्य विभाग को किया गया अलर्ट
  • पटना में दानापुर से लेकर पटना जंक्शन तक चल रही है विशेष रूप से तैयारी

देश के हॉटस्पॉट शहरों से विशेष ट्रेन से आने वालों में एक भी संक्रमित जांच से बच गया तो हालात और बेकाबू हो जाएगा। अब तक जो भी मामले आए हैं वह होली के बाद यानी बाहर से आने वालों के कारण हुए हैं। ऐसे में प्रशासन के सामने प्रभावित इलाकों से आने वालों की शत प्रतिशत जांच बड़ी चुनौती है। DM ने सुरक्षा को लेकर स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट कर दिया है और कहा है कि ऐसी व्यवस्था बनाई जाए जिसमें एक भी व्यक्ति बिना जांच के बाहर नहीं आ सके।

लापरवाही हुई तो महाराष्ट्र की तरह होगा बिहार का हाल

महाराष्ट्र से आने वाली विशेष गाड़ियों को लेकर प्रशासन की युद्ध स्तर पर तैयारी चल रही है। कहीं से भी कोई चूक नहीं हो इसके लिए काम किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग को इतने काउंटर बनाने को कहा गया है जिससे लोगों की जांच आसानी से की जा सके। पटना में दानापुर और पटना जंक्शन पर संक्रमण सुरक्षा को लेकर विशेष चौकसी की तैयारी है। ट्रेन की घोषणा होने के साथ ही DM पटना डॉ. चंद्रशेखर सिंह जांच की व्यवस्था में जुट गए हैं। स्टेशनों के निरीक्षण के साथ वह जिम्मेदार अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं ताकि संक्रमण को स्टेशन पर ही डिटेक्ट कर लिया जाए।

एक एक यात्री की होगी जांच, फिर निकल पाएंगे प्लेटफार्म से बाहर

महाराष्ट्र से पटना और दानापुर आनेवाली सभी ट्रेनों के पैसेंजर की शत प्रतिशत टेस्टिंग किया कराई जाएगी। इसे लेकर DM ने सिविल सर्जन को कड़ा निर्देश दिया है। जिलाधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह ने स्टेशन पर सभी आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए अधिकारियों की टीम बनाई है। बुधवार को वह खुद टीम के साथ पटना जंक्शन का निरीक्षण किए हैं। मंगलवार को दानापुर रेलवे स्टेशन का निरीक्षण कर आदेश दिया था। रेलवे और प्रशासनिक अधिकारियों से इसे लेकर मंथन भी चल रहा है। DM ने सिविल सर्जन को पर्याप्त संख्या में काउंटर बनाने एवं रैपिड एंटीजन जांच कराने क लिए पर्याप्त संख्या में कर्मियों की प्रतिनियुक्ति करने का निर्देश दिया है।

पहले की तरह हुई मनमानी तो बिगडे़गा हालात

पटना जंक्शन के साथ कई रेलवे स्टेशन और बस स्टेशनों के साथ सार्वजनिक स्थानों पर जांच की व्यवस्था है। यहां जांच के लिए काउंटर तो बना दिए गए लेकिन बाहर से आने वालों की जांच शत प्रतिशत नहीं हो पा रही है। पटना जंकशन पर एक दिन में जांच का आंकड़ा 100 भी नहीं पहुंच पाता है। अगर स्पेशल ट्रेनों में भी जांच का यही हाल रहा तो हालात और बिगड़ेंगे क्योंकि इन ट्रेनों से आने वाले महाराष्ट्र के उन इलाकों के होंगे जहां कोरोना सबसे अधिक तबाही मचा रहा है। किसी तरह की लापरवाही नहीं हो और स्वास्थ्य विभाग की टीम की मॉनिटरिंग हो पाए इसके लिए DM ने टेस्टिंग की प्रक्रिया के लिए कई अधिकारियों को जवाबदेह बनाया है। इस काम में अपर समाहर्ता विधि व्यवस्था को दंडाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल की तैनाती करने का आदेश दिया गया है।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply