झारखंड

ईंट भट्ठा मालिकों की गुंडागर्दी: काम से छुट्टी ली ताे मासूम बच्चों के सामने मजदूर दंपती को पीटा, जिंदा जलाने की दी धमकी

wcnews.xyz
Spread the love

  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Took Leave From Work, Beaten Up Couple In Front Of Innocent Children, Threatened To Burn Them Alive

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

​​​​​​​गुमला40 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
मजदूर दंपती पिटाई के मामले को लेकर देर शाम एसपी हृदीप पी जनार्दनन से मिलने उनके कार्यालय पहुंचे। - Dainik Bhaskar

मजदूर दंपती पिटाई के मामले को लेकर देर शाम एसपी हृदीप पी जनार्दनन से मिलने उनके कार्यालय पहुंचे।

सदर थाना क्षेत्र के असनी गांव स्थित पप्पू नामक ईंट भट्ठा के चार पार्टनर मालिकों की गुंडागर्दी सामने आई है। चारों मालिकों ने भट्ठा में काम करने से इनकार करने पर छत्तीसगढ़ के मजदूर दंपती सुनीता ठाकुर (30) व उसके पति कमलेश ठाकुर (32) की हथियार की नोंक पर जमकर पिटाई कर दी। पिटाई के दौरान महिला मजदूर सुनीता के साथ अभद्र व्यवहार भी किया गया है। वहीं, पिटाई कर कमलेश को लहूलुहान कर दिया गया। साथ ही दंपती को उनके मासूम बच्चों समेत ईंट भट्ठा के आग में जिंदा जलाने की धमकी दी गई।

चारों मालिक के खिलाफ शिकायत की

घटना के बाद दोनों मजदूर जान बचाकर वहां से भाग निकले और सदर थाना पहुंचकर चारों मालिक के खिलाफ शिकायत करते हुए कार्रवाई की मांग की है। थाना पहुंचे मजदूर कमलेश ठाकुर ने बताया कि वे लोग छत्तीसगढ़ रायगढ़ जिला स्थित सारंगढ़ थाना क्षेत्र के कोसो गांव के रहने वाले हैं। दिसंबर में कमलेश पत्नी और बच्चों को साथ लेकर मजदूरी करने ईंट भट्ठा आया था। यह ईंट भट्ठा हाल के दिनों में शुरू हुआ है।

हाेली की छुट्टी मांगने पर नाराज, कहा-आए हाे अपनी मर्जी से, जाओगे हमारी मर्जी से
भुक्तभाेगी ने बताया कि लंबे दिनों तक यहां काम करने के बाद होली घर पर मनाने की योजना बनाई। इसके बाद मंगलवार को भट्ठा मालिकों से हिसाब कर भुगतान करने और छुट्टी देने की फरियाद की, तभी भट्ठा के सरदार ने 465 रुपए मजदूरी निकलने की बात कही। साथ ही छुट्टी में जाने का परमिशन दे दिया। बुधवार को वह स्टेशन जाने के लिए ऑटो बुक कर भट्ठा पहुंचा, तभी भट्ठा के चारों पार्टनर पप्पू साहू, रितेश, पिंटू फौजी और एक बैंक मैनेजर मालिक वहां आ धमके। सभी ने चाकू और हथियार लहराते हुए कहा कि आए हो हमलोगों की मर्जी से तो फिर जाओगे भी हमारी मर्जी से। इसके बाद चारों उसे पकड़कर पीटने लगे। वह जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगा, तभी उन लोगों ने उस पर ईंट से हमला कर दिया। इस हमले में वे लहूलुहान होकर गिर पड़े। इसके बाद वह हाथ जोड़कर सभी से छोड़ देने की आरजू मिन्नतें करता रहा। इसके बावजूद चारों को उसपर कोई तरस नहीं आई। चारों उसके नजदीक पहुंचकर पत्नी और बच्चों समेत उसे जिंदा भट्ठा के आग में जला देने की धमकी देने लगे।

मालिकों से हमारी जान काे है खतरा: सुनीता
इधर, पति को पिटता देख पत्नी सुनीता ठाकुर उसे बचाने पहुंची, तभी चारों मालिकों ने उसकी भी पिटाई कर दी। इसके कारण उसके हाथ में चोट आई है। सुनीता ने रोते बिलखते कहा कि उसकी पिटाई करने के दौरान चारों मालिकों ने उसके साथ अभद्र व्यवहार किया। साथ ही बाल पकड़ कर जमीन पर पटक दिया। इसके बाद मौका पाकर दोनों एक अन्य मजदूर के सहयोग से अपने बच्चों को लेकर वहां से जान बचाकर भाग निकले। फिर थाना पहुंचकर पूरे घटना की जानकारी दी। सुनीता ने कहा कि चारों मालिक काफी दबंग और पहुंच वाले लोग हैं। उनसे उनकी जान का खतरा बना हुआ है। पुलिस चारों के विरुद्ध त्वरित कारवाई करें।

प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है, दोषी बख्से नहीं जाएंगे: थाना प्रभारी
इधर, मजदूर दंपती पिटाई के मामले को लेकर देर शाम एसपी हृदीप पी जनार्दनन से मिलने उनके कार्यालय पहुंचे। मगर एसपी की अनुपस्थिति में उनसे मुलाकात नहीं हो सकी। इस दौरान मजदूरों ने उनके कार्यालय में भी एक लिखित आवेदन देकर पिटाई करने वाले ईंट भट्ठा मालिकों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है। साथ ही जान माल के सुरक्षा का गुहार लगाया है। एसपी को आवेदन देने के बाद दंपती श्रम अधीक्षक को भी आवेदन देकर पूरे मामले से अवगत कराते हुए कार्रवाई की मांग की है। वहीं, पूरे मामले को लेकर थाना प्रभारी मनोज कुमार ने कहा कि घटना को लेकर FIR दर्ज कर ली गई है। साथ ही आगे की कार्रवाई प्रारम्भ कर दी गई है। उन्होंने कहा कि इस घटना में जो भी दोषी है, उन्हें बख्सा नहीं जाएगा।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply