व्यपार

आर्थिक समानता और भरोसे ने बढ़ाई खुशहाली: फिनलैंड लगातार चौथी बार रहा सबसे खुशहाल देश; भारत 139, जबकि 105 नंबर पर रहा पाकिस्तान

wcnews.xyz
Spread the love

  • Hindi News
  • Business
  • Finland, The Happiest Country For The Fourth Time In A Row; India Is At 139, While Pakistan Ranked 105

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

42 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • लिस्ट में क्रम से दूसरे से पांचवें नंबर तक डेनमार्क, स्विट्जरलैंड, आइसलैंड और हॉलैंड का नाम
  • आर्थिक महाशक्तियों में अमेरिका 19 नंबर जबकि जापान 56 और चीन 84वें पायदान पर है

एक मशहूर बॉलीवुड फिल्म के लोकप्रिय डायलॉग का एक हिस्सा है- खुश तो बड़े होगे तुम, जिसको आपने भी कई बार बोला होगा। खैर। यहां हम आपकी हमारी नहीं, बात कर रहे हैं दुनिया की जहां भारत काफी खुशहाल है लेकिन उतना नहीं, जितना कि यूरो जोन का सबसे महंगा देश फिनलैंड।

दुनिया के खुशहाल देशों की वर्ल्ड हैपीनेस रिपोर्ट 2021 में फिनलैंड लगातार चौथी बार टॉप पर रहा है। यह रिपोर्ट आज 19 मार्च को यूनाइटेड नेशंस सस्टेनेबल डेवलपमेंट सॉल्यूशंस नेटवर्क ने जारी की है।

दूसरे से पांचवें नंबर तक डेनमार्क, स्विट्जरलैंड, आइसलैंड और हॉलैंड

इस लिस्ट में क्रम से दूसरे से पांचवें नंबर तक डेनमार्क, स्विट्जरलैंड, आइसलैंड और हॉलैंड का नाम रहा है। खुशहाली के मार्चे पर सबसे बुरी स्थिति अफगानिस्तान की है, जो लिस्ट में जिम्बाबवे और रवांडा से भी नीचे रहा है। खुशहाल देशों वाली टॉप 10 लिस्ट में क्रम से नॉर्वे, स्वीडन, लग्जमबर्ग, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रिया रहे हैं।

दुनिया की सबसे बड़ी आर्थिक महाशक्ति अमेरिका 19 नंबर जबकि जापान 56, चीन 84 और भारत 139 नंबर पर है। दिलचस्प बात यह है कि खुशहाल देशों वाली लिस्ट में नेपाल 87, मालदीव 89, बांग्लादेश 101, पाकिस्तान 105 जबकि श्रीलंका 129 नंबर पर है।

कोविड-19 को देखते हुए वर्ल्ड हैपीनेस रिपोर्ट में दो लिस्ट बनाई गई थी

दुनिया भर के देशों पर कोविड-19 के असर को देखते हुए वर्ल्ड हैपीनेस रिपोर्ट 2021 में दो लिस्ट तैयार की गई थी। एक लिस्ट 2018 से तीन साल के लिए गैलप की तरफ से तैयार किए गए सर्वे के औसत पर आधारित है।

दूसरी लिस्ट में सिर्फ 2020 पर फोकस किया गया है ताकि देशों की खुशहाली पर कोविड के असर का पता किया जा सके। टॉप 10 देशों में 9 देशों- फिनलैंड, डेनमार्क, आइसलैंड, स्विट्जरलैंड, हॉलैंड, नॉर्वे, स्वीडन, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रिया का नाम दोनों लिस्ट में है।

खुशहाली कायम रखने और कोविड-19 से निपटने में भरोसे का अहम रोल

लिस्ट को देखने से पता चलता है कि खुशहाली कायम रखने और कोविड-19 से निपटने में भरोसे का अहम रोल रहा है। जिन देशों में आर्थिक असमानता कम है और जहां के लोगों का अपनी सरकार पर ज्यादा भरोसा रहा है, उन्हें कोविड को काबू करने में दूसरों से ज्यादा कामयाबी मिली है। खास बात यह है कि फिनलैंड लॉकडाउन किए बिना कोविड-19 पर काबू पाने में कामयाब रहा है।

लॉकडाउन से दुनियाभर में खुशहाली घटी, फिनलैंड में कोविड से काफी कम मौतें

वर्ल्ड हैपीनेस रिपोर्ट के मुताबिक, जिन देशों में कोविड-19 पर रोकथाम के लिए लॉकडाउन लगा, वहां खुशहाली घटी। फिनलैंड में कोविड के चलते हुए मौतें दुनिया भर में काफी कम रही हैं। कोरोनावायरस के चलते वहां अस्पताल में भर्ती होने वाले हर 10 लाख मरीजों में मरने वालों की संख्या 150 से कम रही है। इसकी तुलना में ग्लोबल लेवल पर हर 10 लाख संक्रमित मरीजों में मरने वालों की संख्या लगभग 980 रही है।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply