बिहार

आमसभा: डीबीए की आम सभा में एक माह में चुनाव कराने का निर्णय, तदर्थ कमेटी ने असंवैधानिक बताया

wcnews.xyz
Spread the love

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भागलपुर19 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक
  • आमसभा में तदर्थ समिति और स्टेट बार कांउसिल निशाने पर रहे, कहा-नियम के खिलाफ किया काम

बार काउंसिल द्वारा डीबीए की भंग की गई कमेटी ने बुधवार काे आमसभा बुलाई। वरीय अधिवक्ता सच्चिदानंद सिंह की अध्यक्षता में यह सभा निर्वाची पदाधिकारी के चुनाव के लिए बुलाई गई थी। हालांकि सभा में तदर्थ समिति और स्टेट बार कांउसिल निशाने पर रहे।

सभा में डीबीए के महासचिव संजय कुमार माेदी ने आराेप लगाया कि सत्र 2019-21 के समापन के बाद निर्वाची पदाधिकारी के चुनाव के लिए उन्हाेंने 20 मार्च 2021 काे आमसभा रखी थी, लेकिन अध्यक्ष पर झूठा आराेप लगाकर एकतरफा निर्णय लेते हुए तदर्थ समिति गठित कर डीबीए काे भंग करा दिया जाे माॅडल रूल्स और बिहार काउंसिल माॅडल रूल्स में नहीं है। उन्हाेंने महासचिव की छवि खराब करने की साजिश करने का भी आराेप लगाया।

दिनेश सिंह बने चुनाव के निर्वाची पदाधिकारी

सभा में दिनेश सिंह काे निर्वाची पदाधिकारी चुना गया। तदर्थ समिति काे असंवैधानिक करार देते हुए एक महीने में चुनाव कराने, महत्वपूर्ण डाॅक्यूमेंट गायब करने का आराेप लगा समिति पर आपराधिक मुकदमा दर्ज कराने, तदर्थ समिति के महासचिव पर केस दर्ज कराने का निर्णय किया गया। इधर, तदर्थ समिति के महासचिव अंजनी दुबे ने इस बैठक काे असंवैधानिक बताया और संजय माेदी पर अधिवक्ताओं काे गुमराह करने का आराेप लगाया।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply