अन्तराष्ट्रीय

आतंकवाद पर लगाम: श्रीलंका में ISIS, अलकायदा समेत 11 इस्लामिक संगठनों पर प्रतिबंध, 2 साल पहले ईस्टर संडे पर आतंकी हमले में 270 लोगों की गई थी जान

wcnews.xyz
Spread the love

  • Hindi News
  • International
  • Ban On 11 Islamic Fundamentalist Organizations Including ISIS, Al Qaeda In Sri Lanka, 270 People Killed In Terrorist Attack On Ister Sunday 2 Years Ago

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोलंबोएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
श्रीलंका के एक शीर्ष मंत्री ने मंगलवार को कहा कि 2019 में ईस्टर के दिन हुए हमलों के मुख्य षडयंत्रकारी की पहचान कर ली गई है और वह एक कट्टरपंथी धर्मगुरु है। - Dainik Bhaskar

श्रीलंका के एक शीर्ष मंत्री ने मंगलवार को कहा कि 2019 में ईस्टर के दिन हुए हमलों के मुख्य षडयंत्रकारी की पहचान कर ली गई है और वह एक कट्टरपंथी धर्मगुरु है।

श्रीलंका ने इस्लामिक स्टेट (ISIS) और अलकायदा समेत 11 इस्लामिक कट्टरपंथी संगठनों पर पाबंदी लगाने का निर्णय किया है। बुधवार को इसकी आधिकारिक घोषणा की गई। अटॉर्नी जनरल डप्पुला डि लिवेरा के आधिकारिक बयान में कहा गया है कि उन्होंने अलकायदा और ISIS के साथ साथ 9 स्थानीय चरमपंथी संगठनों पर पाबंदी की मंजूरी दे दी है।

अधिकारियों ने बताया कि जल्द ही इस संबंध में गजट नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा जिसके बाद यह इन संगठनों पर कानूनी रूप से प्रतिबंध लागू हो जाएगा।

11 भारतीयों की भी गई थी जान
वर्ष 2019 में ईस्टर संडे पर आत्मघाती हमले के बाद श्रीलंका ने स्थानीय जिहादी संगठन नेशनल थोहीथ जमात एवं दो अन्य संगठनों पर पाबंदी लगा दी थी। इस हमले में 270 लोगों की जान चली गई थी जिनमें 11 भारतीय थे। आतंकी संगठन ISIS से जुड़े स्थानीय इस्लामी चरपमंथी समूह नेशनलिस्ट तौहीद जमात (NTJ) के 9 आत्मघाती हमलावरों ने 3 गिरिजाघरों को निशाना बनाते हुए इन हमलों को अंजाम दिया था। वर्ष 2019 में तत्कालीन राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना द्वारा गठित विशेष जांच समिति ने मुस्लिम कट्टरपंथी संगठनों पर पाबंदी की सिफारिश की थी जो इस बौद्धबहुल देश में कट्टरपंथ की पैरवी करते रहे हैं।

2019 में ईस्टर संडे पर हमले में 270 लोगों की जान चली गई थी, जिनमें 11 भारतीय थे। 9 आत्मघाती हमलावरों ने 3 गिरिजाघरों को निशाना बनाते हुए इन हमलों को अंजाम दिया था।

2019 में ईस्टर संडे पर हमले में 270 लोगों की जान चली गई थी, जिनमें 11 भारतीय थे। 9 आत्मघाती हमलावरों ने 3 गिरिजाघरों को निशाना बनाते हुए इन हमलों को अंजाम दिया था।

बम विस्फोट का षड़यंत्रकारी धर्मगुरु हिरासत में
इससे पहले श्रीलंका के एक शीर्ष मंत्री ने मंगलवार को कहा कि 2019 में ईस्टर के दिन हुए हमलों के मुख्य षड़यंत्रकारी की पहचान कर ली गई है और वह एक कट्टरपंथी धर्मगुरु है। वह फिलहाल हिरासत में है। जन सुरक्षा मंत्री सरथ वीरशेखरा ने बताया कि नौफर मौलवी ईस्टर पर बम विस्फोटों का मुख्य षड़यंत्रकारी था। उन्होंने बताया कि 32 संदिग्धों पर हत्या और हत्या की साजिश रचने को लेकर केस दर्ज किया गया है। मामले में 75 अन्य संदिग्ध हिरासत में हैं। मंत्री ने बताया कि रिमांड में कुल 211 संदिग्ध हैं जिनमें 32 को आरोपी बनाया गया है।

खबरें और भी हैं…

Source link

WC News
the authorWC News

Leave a Reply